Target Killing In Shopian: शोपियां में आतंकियों ने हिंदू को बनाया निशाना

4

श्रीनगर: Target Killing In Shopian दक्षिण कश्मीर के जिला शोपियां में आतंकवादियों ने एक बार फिर कश्मीरी हिंदू को निशाना बनाते हुए हमला किया है। गोलीबारी की इस घटना में कश्मीरी हिंदू गंभीर रूप से घायल है। उसे इलाज के लिए तुरंत नजदीकी अस्पताल ले जाया गया है। जहां उसने जख्मों का ताव न सह पाने के कारण इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। मृतक की पहचान पूरन कृष्ण भट्ट पुत्र तारक नाथ के तौर पर हुई है। वहीं हमले के तुरंत बाद वहां पहुंचे सुरक्षाबलों ने हमलावरों की तलाश शुरू कर दी है। हमला करने वाले आतंकवादियों के बारे मेंं विवरण जुटाया जा रहा है। इलाके में लगे सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं।

Amul Hikes Price Of Milk: अमूल ने दिवाली से पहले फिर बढ़ाए दूध के दाम

वहीं शोपियां में कश्मीरी हिंदू की मौत (Target Killing In Shopian) के बाद जम्मू में विरोध प्रदर्शन का सिलसिला तेज हो गया। कश्मीर जाने के लिए पंडितों पर लगातार दबाव बना रहे प्रशासन के खिलाफ कश्मीरी पंडित सड़कों पर उतर आए। रिलीफ कमिश्नर कार्यालय के बाहर पूरन कृष्ण भट्ट की हत्या का हवाला देते हुए प्रदर्शनकारियों ने कहा कि सरकार के सुरक्षा के सभी दावे खोखले साबित हुए हैं। सच तो यह है कि आतंकवादी आज भी कश्मीर में जब चाहें कहीं भी कश्मीरी हिंदू को निशाना बना रहे हैं।

पुलिस के एक अधिकारी ने इस हमले की पुष्टि करते हुए कहा कि जिला शोपियां के चौधरी गुंड इलाके की यह घटना है। आतंकवादियों ने जिस समय पूरन पर हमला किया वह अपने रिहायशी मकान के भीतर बगीचे में बैठा हुआ था। हमलावर अचानक से उसके घर के भीतर घुसे और उन्होंने बगीच में बैठे पूरन पर गोलियां बरसाना शुरू कर दी। हमले के तुरंत बाद आतंकी वहां से फरार हो गए। गोलीबारी की आवाज सुनकर जब परिवार के दूसरे सदस्य बाहर निकले तो उन्होंने पूरन को खून से लथपथ बगीचे में गिरा पाया।

स्थानीय लोगों व पुलिस की मदद से पूरन कृष्ण भट्ट को तुरंत नजदीकी अस्पताल पहुंचाया गया। सूत्रों का कहना है कि उसकी हालत गंभीर बनी हुई थी। इलाज के दौरान ही घायल ने जख्मों का ताव न सह पाने के कारण दम तोड़ दिया। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि हमलावरों की पहचान की जा रही है। बहुत जल्द इस हमले में शामिल आतंकियों को ढूंढ निकाला जाएगा।

वहीं पूरन कृष्ण भट्ट के एक रिश्तेदार ने बताया कि स्वर्गीय पूरन भट के दो स्कूल जाने वाले बच्चे हैं। बड़ा बेटी 7वीं कक्षा में पढ़ती है जबकि छोटा लड़का 5वीं में पढ़ता है। टारगेट कीलिंग की घटना के बाद से पूरन ने घर से निकला भी बंद कर दिया था। आतंकवादियों ने जब उन पर हमला किया, वह घर के भीतर अपने बगीचे में बैठे हुए थे। इस घटना के बाद से हम बहुत डरे हुए हैं।

आपको बता दें कि दक्षिण कश्मीर में इस साल में कश्मीरी हिंदू पर यह तीसरा हमला है। सुरक्षाबलों ने इलाकेे की घेराबंदी कर हमलावरों की तलाश शुरू कर दी है। आसपास रहने वाले लोगों से भी पूछताछ की जा रही है।

Elections announced in Himachal :- 9 नवंबर को वोटिंग, 8 दिसम्बर को नतीजे

Leave a Reply