Imran Khan Arrest : 24 घंटे बाद भी इमरान खान नहीं हुई गिरफ्तार, खाली हाथ वापस लौटी पुलिस

279

लाहौर। Imran Khan Arrest : पाकिस्तान के पूर्व पीएम इमरान खान को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस को करीब 24 घंटे तक मशक्कत करनी पड़ी, लेकिन पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) समर्थकों के बवाल के चलते उनकी गिरफ्तारी संभव नहीं हो सका। इमरान खान को गिरफ्तार करने लाहौर में स्थित उनके आवास पर पहुंची पुलिस को खाली हाथ वापस लौटना पड़ा है। कई घंटों की कोशिश के बावजूद पाकिस्तान की पुलिस इमरान खान को गिरफ्तार नहीं कर सकी।

Uttarakhand Budget : वित्त मंत्री ने पेश किया 77 हजार करोड़ का बजट

उधर, पुलिस के वापस चले जाने के बाद पीटीआई समर्थकों में खुशी की लहर है। पार्टी कार्यकर्ता जश्न में डूबे हुए हैं। लाहौर में जमान पार्क के बाहर जुटे कर्यकर्ताओं ने जश्न मनाया।

विरोध प्रदर्शन के बाद पीछे हटी पुलिस

इससे पहले, मंगलवार को शुरू हुआ गिरफ्तारी की कोशिश का सिलसिला बुधवारी को भी जारी रहा। डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस और रेंजर्स ने तोशखाना मामले में पीटीआई प्रमुख को गिरफ्तार करने के लिए अपने प्रयास जारी रखे। हालांकि, उन्हें पीटीआई कार्यकर्ताओं के कड़े विरोध का सामना करना पड़ा। जबरदस्त प्रदर्शन के चलते पुलिस को पीछे हटना पड़ा।

पुलिस और समर्थकों के बीच झड़प (Imran Khan Arrest)

इमरान खान को गिरफ्तार करने गई पुलिस और पीटीआई कार्यकर्ताओं के बीच झड़पें देखने को मिली हैं। कई जगहों पर हिंसा भी हुई है। इस दौरान पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे और लाठीचार्ज किया। वहीं, पीटीआई कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर पत्थरबाजी की। इस दौरान कई लोगों को चोटें लगी हैं।

पीटीआई ने अपने एक ट्वीट में कहा कि अधिक से अधिक कार्यकर्ता जमान पार्क पहुंच रहे हैं। उन्होंने गठबंधन सरकार के ‘नापाक इरादों’ को सफल नहीं होने देने का संकल्प लिया। एक अन्य वीडियो में इमरान खान को गैस मास्क पहने, पार्टी समर्थकों को संबोधित करते हुए दिखाया गया है। ये वीडियो इमरान के आवास के बाहर का बताया जा रहा है।

पीटीआई ने बुधवार को आरोप लगाया कि इमरान खान का आवास पर कई हमले किए गए। आरोप है कि रेंजर्स और पुलिस ने ओपन फायरिंग की है। इमरान खान ने कहा, “उम्मीद है कि जल्द ही ये सब खत्म हो जाएगा।” खान ने कहा कि उनके खिलाफ गोलीबारी हो रही है।

Parliament Session 2023 : अदाणी, ED के मुद्दे पर मार्च निकाल रहे विपक्षी दलों को रोका गया

 

Leave a Reply