आतंकवादियों से लोहा लेते उत्तराखंड का लाल शहीद

0
602

चमोली जिले का एक जवान जम्मू-कश्मीर के राजौरी में आतंकवादियों से मुठभेड़ में शहीद हो गया। बृहस्पतिवार को नंदाकिनी और अलकनंदा के संगम स्थल पर शहीद का अंतिम संस्कार किया जाएगा। चमोली जिले के घाट ब्लॉक के गंडासू गांव निवासी जगदीश पुरोहित (34) पुत्र गोविंद राम पुरोहित पंद्रह वर्ष पूर्व गढ़वाल राइफल में भर्ती हुए थे। वर्तमान में वह महार रेजीमेंट में राजौरी में तैनात थे।

22 जनवरी को आतंकवादियों से मुठभेड़ के दौरान वह घायल हो गए। उन्हें राजौरी सेना हॉस्पिटल में भर्ती कराया जहां अगले दिन 23 जनवरी की देर रात उनकी मौत हो गई। शहीद अपने पीछे मां सुरेशी देवी, पत्नी उषा देवी, डेढ़ साल का बेटा और पांच साल की पुत्री को छोड़ गया है।

माता और पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल

बेटे की मौत की खबर सुनने के बाद उनकी माता सुरेशी देवी और पत्नी ऊषा का रो-रोकर बुरा हाल है। शहीद के बड़े भाई अनसूया प्रसाद पुरोहित गोपेश्वर में एक स्वयंसेवी संस्था में कार्यरत हैं।

गंडासू गांव के प्रधान पदम सिंह का कहना है कि शहीद जगदीश पुरोहित मिलनसार और बेहद हंसमुख थे। पिछले वर्ष दीवाली में वह घर आए थे। जगदीश के शहीद होने की सूचना के बाद से गांव में मातम पसरा है।

LEAVE A REPLY