Lucknow Building Collapse : लखनऊ अलाया अपार्टमेंट हादसे में सपा प्रवक्‍ता की मां और पत्‍नी की मौत

257

लखनऊ। Lucknow Building Collapse : वजीर हसन रोड स्‍थि‍त अलाया अपार्टमेंट हादसे में पहली मौत की आधिकारिक पुष्टि हुई है। सिविल अस्पताल में अभी सपा प्रवक्‍ता जीशान हैदर की मां बेगम हैदर की मौत हुई है। सिविल अस्पताल के निदेशक ने मौत की पुष्टि करते हुए बताया क‍ि महिला के सीने और सिर में गंभीर चोटें आईं थीं जिससे उनकी मौत हो गई जिसकी पुष्टि सिविल अस्पताल के निदेशक ने की। महिला को आज सुबह अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहीं सपा प्रवक्‍ता अब्‍बास हैदर की पत्‍नी उज्‍मा अब्‍बास का भी न‍िधन हो गया है। जिसकी जानकारी सपा प्रमुख अख‍िलेश यादव ने ट्वीट कर दी।

Pathan Film Row : ‘पठान’ के रिलीज होते ही कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन

अख‍िलेश यादव ने दी श्रद्धांजल‍ि

अख‍ि‍लेश यादव ने ट्वीट कर कहा क‍ि समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता अब्बास हैदर जी की माता जी बेगम हैदर जी एवं पत्नी उज़्मा अब्बास जी का निधन, अत्यंत दुःखद। ईश्वर दिवंगत आत्माओं को शांति दें। शोक संतप्त परिजनों के प्रति गहरी संवेदनाएं। भावभीनी श्रद्धांजलि !

अपार्टमेंट में चल रहा था मरम्‍मत का काम (Lucknow Building Collapse)

आपकी जानकारी के लिए बता दें क‍ि अपार्टमेंट में कुछ दिन से मरम्मत और पाइप लाइन का काम चल रहा था। अपार्टमेंट अचानक जमींदोज कैसे हो गया, ये अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका है। बिल्डिंग का निर्माण यजदान बिल्डर्स ने किया था। अलाया अपार्टमेंट में कुल 14 परिवार रहता था। मंगलवार शाम करीब साढ़े छह बजे अचानक अपार्टमेंट भरभराकर गिर गया।

लखनऊ अपार्टमेंट हादसे की जांच के ल‍िए टीम गठ‍ित

कुछ लोग अभी भी मलबे में फंसे हुए हैं जिसकी जानकारी डीजीपी डीएस चौहान ने दी। फंसे हुए लोगो के लिए उचित ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है। वे एक ही कमरे में हैं। हम दो लोगों के संपर्क में हैं। अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है, पुरे मामले की उचित जांच की जाएगी। वहीं सीएम योगी ने इस पूरे मामले में जांच के आदेश द‍िए हैं। साथ ही शासन ने तीन सदस्‍यीय टीम का गठन कर एक सप्‍ताह में जांच र‍िपोर्ट मांगी है।

अलाया अपार्टमेंट के दो प‍िलर थे कमजोर

बताया जा रहा है की अपार्टमेंट (Building Collapse) के दो पिलर कमजोर थे। कुछ दिन से उसकी मरम्मत भी हो रही थी। ड्रिल मशीन चलाई जा रही थी, जिससे नींव पूरी तरह से हिल गई और ये हादसा हुआ। अनुमान लगाया जा रहा है कि मंगलवार दोपहर में भूकंप के कारण बिल्डिंग पर असर हुआ। पड़ोस में रहने वाले दीपक कोहली ने बताया कि कई दिन से वहां काम चल रहा था। ड्रिल मशीन की तेज आवाजें भी आ रही थीं। इसको लेकर विरोध भी जताया था, लेकिन उनकी बात किसी ने नहीं सुनी।

National girl child Day : पर आयोजित सेमिनार में CM धामी ने किया प्रतिभाग

Leave a Reply