Farmers Protest : कुरुक्षेत्र में किसानों ने दिल्ली-चंडीगढ़ NH किया जाम

223

Farmers Protest : एमएसपी पर सूरजमुखी खरीद की मांग को लेकर किसानों की पिपली अनाजमंडी में एमएसपी दिलाओ किसान बचाओ महारैली हुई। किसानों की रैली को देखते हुए सरकार ने किसान नेताओं से एक घंटे का समय मांगा, लेकिन वार्ता सिरे नहीं चढ़ पाई। जिसके बाद किसानों ने हाईवे जाम कर दिया।

CM DHAMI : जन समस्याओं का शीघ्रता से समाधान हो, CM लोगों की समस्याओं का कर रहे हैं समाधान

कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने की अपील

पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र सिहं भोरिया ने किसानों से कानून व्यवस्था बनाए रखने की अपील थी। क्योंति आम जन को किसी भी प्रकार से परेशानी का सामना न करना पड़े। उन्होंने कहा था कि कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस द्वारा विशेष सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं।

पुलिस प्रशासन फूंक-फूंक कर कदम रख रहा

हरियाणा के साथ-साथ आसपास के विभिन्न राज्यों से भी बड़ी संख्या में किसान कुरुक्षेत्र में जुटे हैं। जिसके चलते प्रशासन से लेकर सरकार की भी इस रैली पर निगाहें टिकी हुई है। वहीं छह जून को शाहाबाद में हुए लाठीचार्ज के घटनाक्रम से सबक लेते हुए किसानों व पुलिस प्रशासन की ओर से फूंक-फूंक कर कदम रखे जा रहे हैं।

किसानों के समर्थन में रैली में पहुंचा था बजरंग पूनिया

कुरुक्षेत्र की महारैली में पहलवान बजरंग पूनिया भी आए थे। बजरंग पूनिया ने कहा था कि किसानों को सड़क पर खड़े देखकर दुख होता है। हम भी ऐसे ही परिवारों से हैं। हम जितने भी खिलाड़ी हैं, हम आपके साथ हैं। किसान यूपी में हुई घटना के जिम्मेदार अजय मिश्रा टेनी के खिलाफ लड़ रहे थे। हम बृजभूषण के खिलाफ लड़ रहे हैं। लेकिन किसी पर एक्शन नहीं हुआ।

किसानों के दिल्ली-चंडीगढ़ हाईवे जाम करते ही पुलिस ने स्थिति को संभालते हुए वाहनों के लिए रूट डायवर्ट किए हैं। अंबाला की तरफ जाने वाहनों के लिए कुरुक्षेत्र सेक्टर 2/3 कट से ब्रह्मसरोवर, केयूके के तृतीय गेट ढाण्ड रोड से नेशनल हाईवे 152 का रूट तय किया है। वहीं यमुनानगर की तरफ जाने वाले वाहनों के लिए उमरी चौंक पुल के नीचे से वाया उमरी, इंद्री, लाडवा-यमुनानगर का रूट तय किया है।

शाहबाद में हुई महापंचायत में पीपली में एमएसपी लाओ- किसान बचाओ महारैली करने का फैसला लिया गया था। इसमें रैली में किसानों को उम्मीद थी कि सरकार उनकी मांगे मान लेगी। इस बैठक के लिए सरकार से बातचीत के लिए एक विशेष कमेटी गठित की गई थी। लेकिन वार्ता सिरे नहीं चढ़ी तो महारैली को बीच में ही छोड़ किसानों ने आज फिर नेशनल हाईवे जाम कर दिया।

हरियाणा सरकार किसानों को जल्द रिहा करे- टिकैत

रैली में राकेश टिकैत ने कहा था सवाल सिर्फ एक फसल पर एमएसपी का नहीं है। सरकार रेट घोषित करती हैं लेकिन उस पर खरीद नहीं करती। एमएसपी गारंटी कानून होना चाहिए। वहीं, कहा कि हरियाणा सरकार किसानों को जल्द रिहा करे। जो भी यहां कमेटी फैसला लेगी, संयुक्त किसान मोर्चा उनका साथ देगा।

Mumbai Murder : मनोज साने ने सरस्वती की हत्या करने के बाद ली थी तस्वीरें

Leave a Reply