Punjab : अमृतपाल के साथी की रिहाई को लेकर समर्थकों का प्रदर्शन

210

अमृतसर। Punjab : गुरुवार को पंजाब के मुखी अमृतपाल सिंह के साथी को रिहा करने की मांग को लेकर स्थिति तनावपूर्ण हो गई है। अमृतपाल के समर्थकों ने पुलिस का सुरक्षा घेरा तोड़कर थाने में खलीस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए हैं। पुलिस और समर्थकों के बीच हिंसक झड़प भी हुई है। समर्थकों ने तलवार भी चलाई, जिसके चलते पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं। अजनाला के बस स्टैंड पर उनके समर्थक इकट्ठा हो रहे हैं। पुलिस ने उनके समर्थकों को आगे बढ़ने से रोकने के लिए बैरिकेडिंग भी कर दी है।

Pawan Kheda Remark : पवन खेड़ा को असम पुलिस ने दिल्ली एयरपोर्ट से किया गिरफ्तार

पुलिस छावनी में तब्दील हुआ इलाका

समर्थकों को रोकने के लिए थाना अजनाला से करीब 500 मीटर एरिया को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है। इस एरिया में दुकानों को भी बंद करवा दिया गया है। थाने की तरफ जाने वाले रास्तों को भी बंद कर दिया गया है और लोगों को आने-जाने की इजाजत भी नहीं दी गई है। बता दें कि इस प्रदर्शन को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। करीब छह जिलों से भारी पुलिस फोर्स तैनात की गई है। इलाके में फ्लैग मार्च निकाला जा रहा है और उसकी अगुवाई एसएसपी खुद कर रहे हैं।

आएंगे अमृतपाल सिंह (Punjab)

बताया जा रहा है कि वारिस पंजाब के मुखी अमृतपाल सिंह जल्लूपुर खेरा गांव से रवाना हो गए हैं। करीब 1 घंटे बाद उनके यहां पहुंचने की संभावना जताई जा रही है। पुलिस ने अमृतपाल सिंह और उसके साथियों पर मारपीट करने धार्मिक भावनाएं आहत करने व लूट का मामला दर्ज किया है। इस मामले में थाना अजनाला की पुलिस ने अमृतपाल सिंह के एक साथी को गिरफ्तार भी किया है।

इसी साथी को रिहा करने की मांग को लेकर अमृतपाल सिंह थाना ने अजनाला के बाहर धरना देने की चेतावनी दी थी। इस धरने में अपने समर्थकों को शामिल होने के लिए उन्होंने अपील भी कर रखी है, जिसके पश्चात उनके समर्थक धीरे-धीरे यहां एकत्रित हो रहे हैं।

समर्थक पुलिस के सुरक्षा घेरे को तोड़ा

बता दें कि, अमृतसर में स्थिति तनावपूर्ण हो गई है। अमृतपाल सिंह के समर्थक पुलिस के सुरक्षा घेरे को तोड़ते हुए आगे निकल गए। इस दौरान पुलिस और समर्थकों में झड़प भी देखने को मिली। अमृतपाल के समर्थकों ने तलवारें भी चलाई।इसके साथ-साथ पुलिस पर पत्थरबाजी भी की गई। अमृतपाल के समर्थक सीधे थाने में घुस गए और वहां खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए। इलाके में पुलिस फोर्स तैनात है लेकिन स्थिति तनावपूर्ण हो गई है। अमृतपाल सिंह के समर्थक उग्र हो गए हैं। पुलिस स्थिति पर नियंत्रण पाने की कोशिश कर रही है। इस तनावपूर्ण स्थिति में पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं।

अमृतपाल सिंह ने दी चेतावनी (Punjab)

इस पूरे उपद्रव के बीच ‘वारिस पंजाब दे’ के प्रमुख अमृतपाल सिंह ने मीडिया से बात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि केवल एक राजनीतिक मकसद से प्राथमिकी दर्ज की गई। उन्होंने आगे कहा कि यदि पुलिस एक घंटे में इस पूरे मामले को रद्द नहीं करते हैं, तो आगे जो कुछ भी होगा उसके लिए प्रशासन जिम्मेदार होगा। अमृतपाल ने आगे कहा कि उन्हें लगता है कि हम कुछ नहीं कर सकते है इसलिए ये शक्ति प्रदर्शन जरूरी था।

Yamunotri Ropeway Project : के लिए पर्यटन विभाग ने किया अनुबंध

Leave a Reply