भारतीय सैनिकों ने अतिक्रमणकारी पीएलए सैनिक को लिया हिरासत में

0
214

नई दिल्ली: पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चीन उकसावे वाली हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। आठ महीने से जारी सैन्य तनाव के बीच शुक्रवार को चीन का एक सैनिक भारतीय सीमा में घुस गया। वो पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे वाले इलाके में घुसा जिसे भारतीय सैनिकों ने हिरासत में ले लिया।

दिल्ली में स्थित सेंट्रल पार्क में कौवों की मौत की खबर से हडकंप

सूत्रों ने बताया कि

बताया जा रहा है की चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) का एक सैनिक एलएसी को लांघकर भारतीय सीमा में पहुंच गया, लेकिन वहां तैनात भारतीय सैन्य टुकड़ी ने उसे दबोच लिया। सूत्रों ने बताया कि चीनी सैनिक को रेजांग ला एरिया से पकड़ा गया है और इसकी खबर पीएलए को दे दी गई है।

ध्यान रहे कि एलएसी के दोनों तरफ भारी संख्या में सैनिकों की तैनाती लंबे समय से बरकरार है। अप्रैल महीने में ही कुछ चीनी सैनिकों ने भारतीय सीमा में अतिक्रमण करने की कोशिश की थी जिसका भारत की तरफ से करारा जवाब दिया गया। बाद में 15 जून को गलवान घाटी में चीनी सैनिकों ने धोखे से भारतीय सैनिकों पर गैर-परंपरागत हथियारों से हमला कर दिया जिसमें 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे जबकि करीब दोगुने तादाद में चीनी सैनिक भी मारे गए।

भारत एलएसी पर अप्रैल 2020 से पहले की यथास्थिति बहाल करने की मांग

फिलहाल, हिरासत में लिए गए चीनी सैनिक के साथ बॉर्डर मैनेजमेंट संबंधी प्रक्रियाओं के मुताबिक निपटा जा रहा है और इस बात की जांच की जा रही है कि आखिर किन परिस्थितियों में वह भारतीय सीमा में घुसा था। सीमा पर जारी संघर्ष को खत्म करने के लिए भारत और चीन के बीच सैन्य कमांडर लेवल की कई दौर की बातचीत हो चुकी है। चीन चाहता है कि पहले भारत रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण उन चोटियों से पीछे हट जाए जिनपर दिसंबर महीने में उसका कब्जा हुआ था। वहीं, भारत एलएसी पर अप्रैल 2020 से पहले की यथास्थिति बहाल करने की मांग कर रहा है।

सर्वाइकल कैंसर को रोकने में कारगर है एचपीवी संक्रमण की नियमित जांच- डॉ लूना पंत

LEAVE A REPLY