लॉकडाउन 4.0 में छूट मिलते ही सैलून और पॉर्लर जाने का बना रहे हैं प्लान तो ये खबर जानना है जरुरी….

0
1471

उत्तराखंड सरकार ने केंद्र की लॉक डाउन 4 गाइडलाइन  की अनुपालन करते हुए राज्य के लिए नई गाइडलाइन तय की है। लॉक डाउन 4.0 में छूट को लेकर सबसे बड़ा विषय सामने आ रहा वो स्पा और नाई की दुकानों को लेकर। लोगों का मानना है कि उत्तराखंड में लगातार कोरोना संक्रमण के केस बढ़ रहे हैं ऐसे में इन दुकानों को खोलने की छूट क्यों दी गई। लोगों की चिंता वाजिब है क्योंकि देश के कुछ राज्यों में नाई और पार्लर की दुकानों से कई लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। आज आपको हम भी ऐसे ही मामलों से रूबरू कराते हैं और बताते हैं कि इन दुकानों का खोलना कितना गैर जिम्मेदाराना आदेश है। और कैसे सैलून को चलाया जा सकता है।

 

1. सबसे पहले बात करते हैं तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में एक चौंकाने वाली खबर आई थी। चेन्नई के एक 32 साल के नाई ने अपनी दुकान में अवैध रूप से खोल कर रखी थी और वह पहले से ही कोरोना पॉजिटिव था, इसके बाद इसके संपर्क में आए कई लोगों को क्वारंटाइन कर दिया गया। यानी 14 दिन बर्बाद।

2. एक सबसे चर्चित मामला मध्य प्रदेश से आया था।  जहां मुंबई से लौटा एक नाई ने अपने गांव के लोगों के बाल कांटे और उस दौरान उसने सिर्फ एक ही कपड़े को सब लोगो पर इस्तेमाल किया था । जिसके कारण 6 लोगों में संक्रमण फैल गया। और सारा गांव होंम क्वारंटाइन में तब्दील हो गया है।

3.तीसरा मामला भी मध्यप्रदेश के जबलपुर इलाके से है जहां पर एक नाई से बाल कटवाने पर 5 पुलिसवालों को कोरोना पॉजिटिव हो गया।

ये भी पढ़े. :- देहरादून के लिये जारी हुई लॉक डाउन 4.0 की नई गाइड लाइन

ये भी पढ़े:- कोरोना विस्फोट: कोरोना के 7 नए मामले 1 दिन में 14 मामले के बाद, संक्रमितों की संख्या हुई 111,देखे  जिलावार कोरोना पॉज़िटिव मरीज

अभी तीन मामलों को आप देख सकते हैं कि कैसे एक आदमी से कोरोना कई लोगों तक फैला है । बात करे स्पा की तो उससे किसी को कोरोना फैलाने की खबर नहीं आई है क्योंकि वे सभी लॉक डाउन में बंद थे, जबकि नाई की कई दुकानों पर लॉक डाउन के उलंघनन पर मामला दर्ज है।

बहुत ही कम लोग ऐसे होंगे जो सैलून जाते होंगे। सैलून वाले जरूर पैसा खर्च कर नए कपड़े मास्क सैनिटाइजर इस्तेमाल कर आपको संतुष्ट कर सकते हैं लेकिन सवाल फिर भी खड़ा होता है जो व्यक्ति बाल काटेगा क्या उसकी दूरी 1 मीटर रहेगी।

वह लोग जो आम दुकानों से बाल काटते हैं उनके लिए दुकानों में बाल काटना सबसे बड़ी समस्या होगी। ।क्योंकि ज्यादातर नाई वही कपड़ा, उस्तरा, कैची, बरश का इस्तेमाल करते हैं और वह हर बार 50 रुपये के लिये  नया कपड़ा नही बदलेंगे ।  ऐसे में आप अपने घर से कैंची उस्तरा कपड़ा लेकर बाल काटने की जरूर सोचेंगे लेकिन नाई की दुकान में हर तरह के लोग आते हैं ऐसे में बाल काटने वाले से आपको कोरोना नही को सकता इसकी क्या गारंटी है।

अब तक आपने  नाई से फैले कोरोना की घटना भारत से ही सुनी होगी लेकिन आपको एक ऐसे सुपरपावर देश से रूबरू कराते हैं जहां 50 परसेंट मौतें सैलून के कारण हुई है।  जी हां, यह घटनाएं अपने आपको सुपर पावर कहने वाला देश, अमेरिका में हुई है। दरअसल, पिछले महीने अमेरिका के स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख जे. एन्थोनी ने बताया है कि अमेरिका में 50 प्रतिशत मौतें ऐसे ही हुई है जो सैलून होकर आये थे।

ये भी पढ़े:-

अब समस्या आपके सामने आ गई है  करे तो क्या करे? शेविंग कैसे करें बाल कैसे काटे, हर बार आप टेढ़ी-मेढ़ी कैंची चलाकर अपने बाल तो काट नही सकते हैं, ऐसे में हमें सरकार से पूछना चाहिए कि स्पा और नाई की दुकानों के लिए क्या गाइडलाइन है क्योंकि  केंद्र और राज्य की किसी भी सरकार ने इनके लिए कोई गाइडलाइन जारी नहीं की है। इतना जरूर है कि देहरादून में  इनके लिए एक गाइडलाइन बनी है जिसमे 3 कर्मचारी 2 ग्राहक ही दुकान में रहेंगे। जो खानापूर्ति है

वैसे सरकार इस पर कोई सख्त गाइडलाइन जारी करती तो अच्छा होता। क्योंकि सरकारी तंत्र देश के दिग्गज डॉक्टरों से विचार विमर्श करके ही फैसला लेता है। और हमे भी उस पर विश्वास होता है । लेकिन इतना तो तय है कि जब तक कोरोना की कोई दवाई नहीं आती है तब तक हमें कोरोना के साथ ही जीना होगा ।क्योंकि वह हमारे लाइफ का एक हिस्सा बन चुका है ऐसे में हम हर चीज को नकार नहीं सकते हैं लेकिन हां सावधानी बरत सकते है।

वैसे सरकार अगर यह नियम बनाए तो कितना बेहतर होगा

  • कस्टूमर के लिए कोई भी वेटिंग रूम नहीं होगा

  •  वेटिंग रूम में कोई मैगजीन और अखबार नहीं होगें

  • किसी भी तरह के सैलून में ड्राई कट की अनुमति नहीं होगी।

  • सैलून और नाई की दुकानों में आने वाले कस्टूमर के बीच कम से  कम डेढ़ मीटर की दूरी अनिर्वाय होगी।

  • सैलून में बाल सुखाने की मशीनों का प्रयोग पूरी तरह से बंद हो

  • बाल धोते और काटते समय बैक्टीरिया से बचने के लिए दस्ताने पहनने जरूरी होने चाहिये।

  • कस्टमर और बाल काटने वाले को बाल काटते  समय मास्क पहनना पड़ेगा।

  • बाल काटते वक्त कस्टूमर से गप्पें नहीं होंगी और टीवी भी नहीं चलेगी

  • आमने-सामने किसी भी तरह से बातचीत नहीं होगी, सीसे में देखते ही बात होगी।

  • सबसे बेहतर है लोगो को बाल ख़ुद ही काटने के लिये बढ़ावा दिया जाएगा

  •  घर मे ही  बालों को कलर करने की सलाह दी जाए।

  • बाल काटने से पहले हर समान को संक्रमित रहित करना होगा

  • सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का सख्ती से पालन किया जाए

  • प्रत्येक सैलून मालिक को अपने कस्टूमर के नाम दर्ज करने होंगे ताकि कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग करने में आसानी हो।

इस बीच भयभीत करने वाली इस रिपोर्ट के बाद एक खुशखबरी भी है देश मे अगले महीने से हर दिन 10 लाख टेस्ट होंगे। ऐसे में कोरोना संक्रमित लोगों तक जल्दी से पहुंचा जा सकता है। वही आपके लिए आर्थिक रूप से बुरी खबर भी है आगर सैलून और नाई की दुकाने सैनिटाइज मास्क वगैरा-वगैरा का इस्तेमाल करते हैं तो लाजमी है आपकी जेब भी ढीली होगी।

LEAVE A REPLY