Mahashivratri 2023 : केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि हुई तय

273

रुद्रप्रयाग : Mahashivratri 2023  आज शिवरात्रि पर्व पर केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि तय कर दी गई है। 25 अप्रैल 2023 को प्रातः 6 बजकर 20 मिनट पर श्री केदारनाथ धाम के कपाट खुलेंगे। बाबा केदार के शीतकालीन गद्दीस्थल ऊखीमठ स्थित ओंकारेश्वर मंदिर में शनिवार को कपाट खुलने की तिथि की घोषणा की गई।

Plastic Waste Management Workshop : को CM ने किया संबोधित

22 अप्रैल से शुरू होगी चारधाम यात्रा

चार धामों में गंगोत्री व यमुनोत्री के कपाट 22 अप्रैल को और बदरीनाथ के कपाट 27 अप्रैल को खोले जाने हैं। केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि घोषित होने के बाद यहां भी यात्रा की तैयारियां तेज हो जाएंगी। हर साल की तरह शिवरात्रि पर्व पर पंचकेदार गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि तय की जाती है।

बाबा केदार का शृंगार कर महाभिषेक किया गया (Mahashivratri 2023)

शिवरात्रि पर्व पर शनिवार सुबह से ही मंदिर में पूजा-अर्चना के साथ बाबा केदार का शृंगार कर महाभिषेक किया गया। इसके बाद वेदपाठी, केदारनाथ के रावल भीमाशंकर लिंग व मुख्य पुजारी के साथ ही हक-हकूकधारी, प्रशासन व तीर्थ पुरोहितों की मौजूदगी में पंचांग गणना के बाद सुबह 9:30 बजे कपाट खुलने की तिथि व मुहूर्त निकाला गया।

साथ ही उत्सव डोली के ओंकारेश्वर मंदिर से केदारनाथ रवाना होने की तिथि भी घोषित होगी।

आनलाइन पंजीकरण की बाध्यता समाप्त हो वहीं होटल एसोसिएशन उत्‍तरकाशी ने चारधाम यात्रा में आनलाइन पंजीकरण की बाध्यता को समाप्त करने की वकालत की। गंगोत्री विधायक सुरेश चौहान और जिलाधिकारी अभिषेक रुहेला को भी मांगों को लेकर ज्ञापन दिया।

गंगोरी में आयोजित कार्यक्रम में गंगोत्री विधायक सुरेश चौहान ने उत्तरकाशी में पर्यटन को बढ़ाने के लिए, होटल व्यवसायियों की समस्याओं के निराकरण के लिए हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।

जिलाधिकारी अभिषेक रुहेला, पुलिस अधीक्षक अपर्ण यदुवंशी ने प्रशासन की ओर से चारधाम यात्रा के सफल संचालन के लिए हर संभव मदद, होटलों के पंजीकरण व्यवस्था के लिए कैंप लगाने की बात कही।

होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष शैलेंद्र सिंह मटूड़ा ने कहा कि चारधाम यात्रा में यात्रियों की संख्या को निर्धारित करना गलत है। इसका असर सीधे होटल व्यवसाय पर पड़ेगा। चारधाम यात्रा पूर्व की भांति आफलाइन पंजीकरण, बायोमेट्रिक पंजीकरण व्यवस्था के आधार पर संचालित की जाए।

शैलेंद्र मटूड़ा ने गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग को यथावत रखने, मरीन ड्राइव निर्माण, कलेक्ट्रेट में कार पार्किंग निर्माण, दयारा बुग्याल व वरुणावत में रोपवे, जदूंग को इनर लाइन से मुक्त कर पर्यटकों के लिए खोलने की मांग की।

इस अवसर पर नगरपालिका अध्यक्ष रमेश सेमवाल, होटल एसोसिएशन के मुख्य संरक्षक अजय पुरी, सचिव सुभाष कुमाईं, उपाध्यक्ष प्रकाश भद्री, धीरज सेमवाल, कोषाध्यक्ष बिन्देश कुड़ियाल, सहसचिव शंकर दयाल पंत, जनसंपर्क प्रभारी सुरेश राणा, मीडिया प्रभारी गोपीनाथ रावत, अशोक सेमवाल, खुशाल नेगी, रमेश पैन्यूली, दीपेंद्र पंवार, राजेन्द्र पंवार, विशेष जगूड़ी, प्रमोद राणा, अंकित उप्पल, व्यापार मंडल अध्यक्ष रमेश चौहान, गंगोत्री मंदिर समिति अध्यक्ष हरीश सेमवाल, सचिव सुरेश सेमवाल आदि मौजूद थे।

Delhi Mayor Election : मेयर चुनाव पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला

Leave a Reply