Badrinath Highway Closed : बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर आया भारी मलबा

290
video

जोशीमठ: Badrinath Highway Closed जोशीमठ में बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग टैय्या पुल के पास मलबा आने से बंद हो गया। मार्ग खोलने के प्रयास किए जा रहे हैं। जानकारी के मुताबिक शनिवार दोपहर करीब 12 बजे जोशीमठ में बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग टैय्या पुल के पास मलबा आने से बंद हो गया। यहां चारधाम यात्रा के तहत बीआरओ द्वारा हाईवे चौड़ीकरण का कार्य किया जा रहा है।

Rajasthan Politics : पुलवामा के शहीदों पर सियासत, जयपुर में BJP का प्रदर्शन

एसडीएम ने बदरीनाथ धाम में यात्रा व्यवस्थाओं का किया निरीक्षण

वहीं चारधाम यात्रा तैयरियों को लेकर उपजिलाधिकारी जोशीमठ कुमकुम जोशी ने गुरुवार को बदरीनाथ धाम में यात्रा व्यवस्थाओं केा लेकर निरीक्षण किया । इस दौरान उन्होंने बदरीनाथ धाम में चल रहे मास्टर प्लान के कार्यों का भी निरीक्षण किया। चारधाम यात्रा को व्यवस्थित ढंग से सुचारु व चारधाम यात्रा पर आ रहे यात्रियों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए चमोली प्रशासन व्यवस्थाओं में जुट गया है।

उपजिलाधिकारी जोशीमठ ने बदरीनाथ धाम में जाकर बदरीनाथ धाम में चल रहे मास्टर प्लान के कार्यों का निरीक्षण व जोशीमठ से लेकर बदरीनाथ तक ऑल वेदर रोड का भी निरीक्षण किया। बदरीनाथ धाम में भी व्यवस्थाओं को लेकर धाम के कई स्थानों पर निरीक्षण किया।

बदरीनाथ महायोजना का कार्य फिर शुरू (Badrinath Highway Closed)

मौसम में हल्की गर्मी महसूस हुई तो बदरीनाथ महायोजना के द्वितीय चरण का कार्य भी शुरू हो गया है। यह कार्य भारी बर्फबारी के बाद फरवरी माह के बाद रोक दिया गया था। द्वितीय चरण में बदरीनाथ मंदिर के आस पास भवनों का ध्वस्तीकरण का कार्य मेनुअली चल रहा है। इस काम में फिलहाल 60 से अधिक अधिकारी , कर्मचारी, मजदूर बदरीनाथ में डटे हुए हैं।

प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत बदरीनाथ धाम में मास्टर प्लान के अंर्तगत तीन चरणों में बुनियादी ढांचे का विकास किया जा रहा है। प्रथम चरण में अरावली प्लाजा, बीआरओ बाइपास ,लूप रोड निर्माण , शेष नेत्र व बदरीश झील का सौंदर्यकरण, चिकित्सालय का विस्तारीकरण व रिवर फ्रंट के डेप्लमेंट का कार्य किए गए हैं जोकि लगभग पूर्ण हो गए हैं।

नवंबर माह में बदरीनाथ के कपाट बंद होने के बाद दूसरे चरण के कार्यों के तहत बदरीनाथ मंदिर के आस पास के क्षेत्र में सौंदर्यीकरण किए जाने का कार्य शुरू किया गया था। जिसके तहत नारायण पर्वत के तलहटी पर मंदिर के आस पास भवनों के ध्वस्तीकरण का कार्य किया गया।

फरवरी माह के शुरुआती दिनों में भारी बर्फबारी के बाद बदरीनाथ में द्वितीय चरण के कार्य को प्रशासन ने रोक दिया था, तथा कार्य में लगे तीन सौ से अधिक मजदूर कर्मचारियों को वापस बुला दिया गया था।

ED Raid : तेलंगाना में लगाए गए भाजपा पर कटाक्ष करते पोस्टर्स

video

Leave a Reply