हितों की अनदेखी को किसी कीमत में नहीं करेंगे बर्दाश्त

0
518

रिक्त पदों पर नियुक्ति और पदोन्नति समेत अनेक मांगों पर कार्रवाई की मांग कर रहे वन आरक्षी बीट अधिकारी संघ की बेमियादी हड़ताल बुधवार को भी जारी रही। संगठन के सदस्यों ने मांगों पर कार्रवाई होने तक संघर्ष जारी रखने का एलान किया है।

मांगों पर कोई कार्रवाई नहीं कर रही सरकार

अपनी मांगों को लेकर प्रांतीय नेतृत्व के आह्वान पर संगठन के सदस्यों ने मंगलवार से बेमियादी हड़ताल शुरू कर दी थी। बुधवार को नारेबाजी के बाद आयोजित धरना सभा को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि वह रिक्त पदों पर नियुक्ति और पदोन्नति समेत दस वर्ष तक की सेवा की बाध्यता को खत्म करने मांग समेत वन दारोगा के 33 प्रतिशत पदों पर सीधी भर्ती का विरोध कर रहे हैं। लेकिन इसके बाद भी सरकार उनकी मांगों पर कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।

संगठन के सदस्यों ने कहा है कि जब तक सरकार उनकी मांगों को नहीं मान लेगी, तब तक वह पीछे नहीं हटेंगे। आंदोलनकारियों ने कहा है कि वह लंबे समय से विभाग को अपनी सेवाएं देते आए हैं। ऐसे में वह अपने हितों की अनदेखी को किसी कीमत में बर्दाश्त नहीं करेंगे।

बुधवार को आयोजित धरना सभा में विभिन्न क्षेत्रों से आए हीरा सिंह, हेम कांडपाल, गोपाल सिंह, कमला पांडे, हरेंद्र सतवाल, बलवंत भंडारी, गोकुल नेगी, खजान मेहता, पूनम पंत, दीपा मिश्रा, गीता गोस्वामी, किरन तिवारी, सावित्री, चंद्रा आर्या समेत अनेक कर्मचारी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY