Uttarakhand Assembly Recruitment: स्‍पीकर ऋतु खंडूड़ी ने गठित की जांच कमेटी

1

देहरादून: Uttarakhand Assembly Recruitment उत्‍तराखंड विधानसभा सचिवालय भर्ती प्रकरण को लेकर विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी भूषण आज शनिवार को बड़ा एलान कर सकती हैं। विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी भूषण देहरादून पहुंच चुकीं हैं। इस संबंध में पत्रकार वार्ता में उन्‍होंने कहा कि भर्ती मामले में जांच कमेटी गठित कर दी गई है। साथ ही विधानसभा सचिव मुकेश सिंघल को अवकाश पर भेज दिया है।

Dev Sanskriti University: के 40वें ज्ञानदीक्षा समारोह में मुख्यमंत्री ने किया प्रतिभाग

विधानसभा की भर्तियों के प्रकरण की जांच के लिए विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी भूषण ने तीन सदस्यीय विशेषज्ञ समिति गठित की है। समिति में पूर्व आइएएस डीके कोटिया अध्यक्ष और सुरेंद्र सिंह रावत व अवनींद्र नयाल सदस्य होंगे। समिति एक माह में रिपोर्ट देगी। जांच होने तक सचिव विधानसभा मुकेश सिंघल को छुट्टी पर भेजा गया है।

विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी भूषण ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि वर्ष 2012 से 2022 तक की नियुक्तियों की समिति जांच करेगी। इसके अलावा 2000 से 2011 तक उत्‍तर प्रदेश की नियामवली थी। इसे भी जांच के दायरे में लाया जाएगा। आगामी भर्तियों के लिए इस समिति की रिपोर्ट जरूरी है, इसी आधार पर आगे के नियम तय होंगे।

72 नियुक्तियों में कथित अनियमितता का मामला

अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की भर्ती परीक्षाओं में पेपर लीक की बात सामने आने के बाद पिछले कुछ दिनों से पिछली विधानसभा के कार्यकाल में विधानसभा सचिवालय में हुई 72 नियुक्तियों में कथित अनियमितता का मामला भी तूल पकड़ा हुआ है।

मुख्‍यमंत्री पुष्‍कर सिंह धामी ने सख्‍त रुख अपनाया

इसे लेकर मुख्‍यमंत्री पुष्‍कर सिंह धामी के बाद वर्तमान विधानसभा अध्‍यक्ष ने भी शुक्रवार को सख्त रुख अपनाने के संकेत दिए थे।

विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी भूषण ने भर्तियों के संबंध में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का पत्र मिलने की पुष्टि की थी। उन्होंने कहा था कि इस मामले में विधिक राय ली जा रही है। इसके बाद ही वह कोई निर्णय लेंगी।

यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामले में अब तक 33 गिरफ्तारियां

वहीं यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामले में अब तक 33 गिरफ्तारियां हो चुकी हैं। इस जांच के दौरान विधानसभा में हुई नियुक्तियों को लेकर अंगुली उठने लगी। जिस पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सख्त रुख अपनाया है।

मुख्‍यमंत्री धामी ने किया था नियुक्तियां निरस्त करने का आग्रह

उन्‍होंने विधानसभा अध्यक्ष (Uttarakhand Assembly Recruitment) को पत्र भेजकर कहा था कि विधानसभा एक गरिमामयी स्वायत्तशासी संवैधानिक संस्था है। मुख्‍यमंत्री धामी ने भर्ती प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच कराने और अनियमितताएं पाए जाने पर ऐसी सभी नियुक्तियां निरस्त करने का आग्रह किया था।

शनिवार को देहरादून पहुंचीं विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी भूषण

उधर, दिल्ली में मौजूद विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी भूषण ने भी शुक्रवार को मुख्यमंत्री धामी का पत्र मिलने की पुष्टि की थी। जिसके बाद वह शनिवार को देहरादून पहुंचीं हैं। संभावना है कि आज वह इस संबंध में कोई फैसला ले सकती हैं।

Coronavirus Updates: देश में 24 घंटे में फिर बढ़े कोरोना के मामले

Leave a Reply