Agniveer Bharti 2023 : उत्तराखंड के 7 शहरों में होगा रिटन एग्‍जाम

18

देहरादून : Agniveer Bharti 2023  उत्तराखंड में अग्निवीर भर्ती (Agniveer Bharti 2023) के लिए पहली बार शारीरिक परीक्षण से पहले संयुक्त प्रवेश परीक्षा (सीईई) आयोजित की जा रही है। यह परीक्षा उत्तराखंड के सात शहरों में होगी। गढ़वाल में देहरादून, रुड़की व पौड़ी और कुमाऊं में नैनीताल, पिथौरागढ़, अल्मोड़ा व हल्द्वानी में परीक्षा होगी। यह जानकारी लैंसडौन भर्ती कार्यालय के निदेशक कर्नल मुनीष शर्मा ने दी।

Single women self employment scheme : राज्य में किया जाएगा शुरू

परीक्षा के लिए युवा 15 मार्च तक पंजीकरण कराए

कर्नल मुनीष ने बताया कि संयुक्त प्रवेश परीक्षा के लिए युवा 15 मार्च तक वेबसाइट, ज्वाइन इंडियन आर्मी पर आनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं। वे किसी भी राज्य में जहां अस्थायी रूप से रह रहे हैं वहां अपनी सुविधानुसार केंद्र चुनकर लिखित परीक्षा दे सकेंगे। इसकी जानकारी उन्होंने पत्रकार वार्ता में दी।  साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि परीक्षा केंद्रों के पांच विकल्प मिलेंगे, जिसमें से कोई एक आवंटित हो जाएगा। अलबत्ता, लिखित परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों को शारीरिक दक्षता परीक्षा और मेडिकल टेस्ट के लिए अपने गृह राज्य में ही जाना होगा।

उन्होंने बताया कि लिखित परीक्षा की मेरिट के आधार पर उम्मीदवार को भर्ती रैली के लिए निश्चित स्थानों में बुलाया जाएगा। जिसके लिए अलग से प्रवेश पत्र जारी किए जाएंगे। जिसे रैली स्थल पर साथ लाना होगा। उन्होंने साफ किया कि भर्ती रैली की प्रक्रिया या मानकों में कोई बदलाव नहीं किया गया है। बताया कि अंतिम मेरिट आनलाइन टेस्ट, शारीरिक दक्षता परीक्षा व मेडिकल के आधार पर बनेगी।

ज्वाइन इंडियन आर्मी वेबसाइट को अब डिजी से जोड़ा

उन्होंने बताया कि ज्वाइन इंडियन आर्मी वेबसाइट को अब डिजी लाकर से जोड़ दिया गया है। ताकि कोई भी गड़बड़ी तुरंत पकड़ में आ जाए। पंजीकरण के लिए आधार कार्ड आवश्यक है। आधार कार्ड को डिजी लाकर से सत्यापित किया जाएगा।

माक टेस्ट की भी व्यवस्था

संयुक्त प्रवेश परीक्षा कम्प्यूटर आधारित परीक्षा है। अभ्यर्थियों को परीक्षा के स्वरूप से वाकिफ कराने के लिए माक टेस्ट की भी व्यवस्था की गई है। उम्मीदवार सेना की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से माक टेस्ट दे सकते हैं। कोई अभ्यर्थी प्रवेश परीक्षा के तय स्लाट में परीक्षा देने नहीं पहुंचता, तो उसे आगे मौका नहीं मिलेगा।

मोबाइल नंबर व ई-मेल सही दें

लिखित परीक्षा 17 अप्रैल से शुरू हो जाएंगी। जिसके प्रवेश पत्र 10-15 दिन पहले वेबसाइट पर उपलब्ध होंगे। इसकी सूचना अभ्यर्थी की ओर से दर्ज ई-मेल आइडी व मोबाइल नंबर पर भेजी जाएगी। ऐसे में अभ्यर्थियों को सलाह दी जाती है कि वह पंजीकरण कराते वक्त सही मोबाइल नंबर व ई-मेल आइडी दर्ज करें। पंजीकरण उपरांत इसमें बदलाव न करें।

इन माध्यमों से जमा होगा शुल्क (Agniveer Bharti 2023)

आनलाइन पंजीकरण के लिए इस बार शुल्क निर्धारित किया है। अभ्यर्थी को 250 रुपये शुल्क देना होगा, जबकि वास्तविक शुल्क 500 रुपए है, ऐसे में 250 रुपए का शुल्क सरकार वहन करेगी। अभ्यर्थी यह शुल्क इंटरनेट बैंकिंग. डेबिट या क्रेडिट कार्ड, यूपीआई पेमेंट या वेबसाइट पर उपलब्ध बार कोड को स्कैन कर जमा करवा सकता हैं। शुल्क अदायगी व रोल नंबर जनरेट होने के बाद ही पंजीकरण पूर्ण माना जाएगा।

हेल्प डेस्क स्थापित

उन्होंने बताया कि अभ्यर्थियों की मदद के लिए हेल्पडेस्क भी स्थापित किया गया है। जिसका विवरण ज्वाइन इंडियन आर्मी की वेबसाइट पर है। प्रवेश परीक्षा से संबंधित प्रश्न के लिए 7996157222 पर काल की जा सकती है।

नवीनतम फोटो ही अपलोड करें

अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्र पर प्रवेश पत्र, आधार कार्ड साथ लाना होगा। कर्नल मुनीष ने कहा कि अभ्यर्थी पंजीकरण कराते वक्त अपना नवीनतम फोटो ही अपलोड करें। ताकि परीक्षा केंद्र पर फोटो से मिलान में परेशानी न हो।

टेक्नीकल पदों के लिए हुए बदलाव

टेक्नीकल पदों के लिए शैक्षिक योग्यता पहले बारहवीं निर्धारित थी पर, इस बार 10वीं उत्तीर्ण अभ्यर्थी भी पात्र हंै। यदि उसने आइटीआइ से 2 वर्ष का कोर्स या 3 वर्ष का डिप्लोमा किया हुआ हो। इन अभ्यॢथयों को फाइनल मेरिट में 2 वर्ष का कोर्स करने पर 20 अंक तथा 3 वर्ष का डिप्लोमा करने पर 30 अंकों की वेटेज मिलेगा।

सी-सर्टिफिकेट धारक को भी देनी होगी परीक्षा

एनसीसी के सी-सर्टिफिकेट धारक अभ्यर्थियों को पहले लिखित परीक्षा नहीं देनी पड़ती थी, पर अब उन्हें भी परीक्षा देनी होगी। उन्हें अंतिम मेरिट में सी-सर्टिफिकेट का वेटेज मिलेगा।

दसवीं या बारहवीं की परीक्षा देने जा रहे भी आवेदन के पात्र

ऐसे युवा जो इस बार दसवीं या बारहवीं की परीक्षा देने जा रहे हैैं, वह भी आवेदन करने के पात्र हैं, बशर्ते वे अन्य औपचारिकताओं को पूरा करते हों। भर्ती रैली के वक्त उन्हें दसवीं या बारहवीं का सर्टिफिकेट दिखाना होगा।

Umesh Pal murder Case : इलाहाबाद यूनिवर्सिटी का मुस्लिम हॉस्टल किया गया सील

Leave a Reply