PM Modi Speech : पीएम मोदी ने विपक्ष पर साधा निशाना; बोले- मेरे विचार और सपने आजाद

79

नई दिल्ली। PM Modi Speech : संसद के बजट सत्र की कार्यवाही जारी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव का जवाब दे रहे हैं। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में राष्ट्रपति को धन्यवाद दिया। इस दौरान उन्होंने विपक्ष पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि आलोचना करना कुछ साथियों की मजबूरी हो गई है।

Harak Singh Rawat : कांग्रेस नेता हरक सिंह के घर ईडी की रेड

पीएम मोदी ने कांग्रेस पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि मैं इस बार भी पूरी तैयारी से आया हूं। कांग्रेस ने लोकतंत्र का गला घोंटने का काम किया है। मैं खरगे का विशेष आभार प्रकट करता हूं। मैं उस दिन इन्हें बहुत ध्यान और आनंद से सुन रहा था। लोकसभा में मनोरंजन की जो कमी हमें खल रही थी, वो इन्होंने पूरी कर दी थी।

PM Modi Speech Parliament Budget Session LIVE;

पीएम मोदी ने राज्यसभा में कहा- ‘आज भी मेरा मंत्र है देश के विकास के लिए राज्य का विकास। हम राज्यों के विकास से ही देश का विकास कर पाएंगे। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि राज्य अगर एक कदम चलता है तो हम दो कदम चलेंगे। मैंने तो हमेशा कहा कि हमारे राज्यों के बीच में सकारात्मक सोच के साथ चलने की जरूरत है।’
प्रधानमंत्री ने कहा- ‘कांग्रेस ने अपने युवराज को एक स्टार्टअप बनाकर दिया है, अभी वो नॉन स्टार्टर है। न तो लिफ्ट हो रहा है, ना लॉन्च हो रहा है।’

पीएम ने कहा- ‘जिस BSNL को कांग्रेस ने तबाह करके छोड़ा था, वो आज मेड इन इंडिया 4जी, 5जी की ओर आगे बढ़ रहा है और दुनिया का ध्यान आकर्षित कर रहा है। HAL के लिए इतने भ्रम फैलाए, आज रिकॉर्ड मैन्युफैक्चरिंग और रेवेन्यू जनरेट कर रहा है। कर्नाटक में एशिया की सबसे बड़ी हेलीकॉप्टर बनाने वाली कंपनी HAL है। कहां छोड़ा था, कहां हमने पहुंचाया है। LIC को लेकर भी ऐसी अफवाह फैलाई गई। मैं सीना तानकर सुनाना चाहता हूं, आज LIC के शेयर रिकॉर्ड स्तर पर ट्रेड कर रहे हैं।’

प्रधानमंत्री ने राज्यसभा में कहा- ‘उच्च शिक्षा में आज SC विद्यार्थियों का नामांकन 44% बढ़ा है। उच्च शिक्षा में ST विद्यार्थियों का नामांकन 65% बढ़ा है। OBC विद्यार्थियों के नामांकन में 45% की बढ़ोतरी हुई है। जब मेरे गरीब, दलित, पिछड़े, वंचित और आदिवासी परिवार के बच्चे उच्च शिक्षा प्राप्त करेंगे, तो समाज में एक नया वातावरण पैदा होगा।’
पीएम ने कहा- ‘अति पिछड़ी जाति से आने वाले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सीताराम केसरी को उठाकर फुटपाथ पर फेंक दिया गया था। कांग्रेस के एक मार्गदर्शक अमेरिका में बैठे हुए हैं। जो कांग्रेस परिवार के बहुत करीबी हैं। उन्होंने अभी-अभी संविधान निर्माता बाबा साहब अंबेडकर के योगदान को छोटा करने का भरपूर प्रयास किया है।’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi Speech) ने कहा- ‘कांग्रेस के 10 वर्षों में भारतीय अर्थव्यवस्था नाजुक स्थिति में थी। दूसरी ओर हमारे 10 वर्षों में भारत शीर्ष पांच अर्थव्यवस्थाओं में से एक रहा है। हमारे 10 साल बड़े और निर्णायक फैसलों के लिए याद रखे जाएंगे।’

पीएम ने कहा- ‘नेहरू कहते थे कि अगर SC/ST, OBC को नौकरी में आरक्षण मिला तो सरकारी कामकाज का स्तर गिर जाएगा। आज जो ये आंकड़े गिनाते हैं, उसका मूल यहीं है। अगर उस समय सरकार में भर्ती हुई होती, तो वो प्रमोशन के बाद आगे बढ़ते और आज यहां पहुंचते।’

उन्होंने कहा कि नेहरू ने जो कहा वो कांग्रेस के लिए हमेशा से पत्थर की लकीर होता है। दिखावे के लिए आप कुछ भी कहें, लेकिन आपकी सोच ऐसे कई उदाहरणों से सिद्ध होती है। कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर के SC/ST, OBC को सात दशकों तक उनके अधिकारों से वंचित रखा।

पीएम मोदी ने पूर्व पीएम नेहरू का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा- ‘एक बार नेहरू ने मुख्यमंत्रियों को चिट्ठी लिखी थी, जिसमें लिखा था कि मैं किसी भी आरक्षण को पसंद नहीं करता और खासकर नौकरी में आरक्षण तो कतई नहीं। मैं ऐसे किसी भी कदम के खिलाफ हूं, जो अकुशलता को बढ़ावा दे, जो दोयम दर्जे की तरफ ले जाए। इसी के आधार पर मैं कहता हूं कि कांग्रेस आरक्षण की जन्मजात विरोधी है।’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा- ‘राष्ट्रपति ने अपने अभिभाषण में विस्तार से 4 सबसे बड़ी जातियों के विषय में हम सबको संबोधित किया था। ये 4 जातियां हैं। युवा, नारी, गरीब और हमारे अन्नदाता। हम जानते हैं कि इनकी समस्याएं और सपने एक समान है। इन चारों वर्गों की समस्याओं के समाधान के रास्ते भी एक समान ही हैं।

प्रधानमंत्री ने राज्यसभा में कहा- कांग्रेस ने नैरेटिव फैलाया, जिसका परिणाम हुआ कि भारत की संस्कृति और संस्कारों को मानने वाले लोगों को बड़े हीन भाव से देखा जाने लगा। इस प्रकार हमारे अतीत के साथ अन्याय किया गया। इसका नेतृत्व कहां होता था, ये दुनिया भलीभांति जानती है।

पीएम ने कहा- सब जानते हैं कि आजादी के बाद भी देश में गुलामी की मानसिकता को किसने बढ़ावा दिया। अगर आप अंग्रेजों से प्रभावित नहीं थे, तो अंग्रेजों की बनाई दंड संहिता कांग्रेस ने क्यों नहीं बदली।

पीएम मोदी ने कांग्रेस पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि जिस कांग्रेस के अपने नेता की कोई गारंटी नहीं है, वो मोदी की गारंटी पर सवाल उठा रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा- ‘जिस कांग्रेस ने OBC को पूरी तरह कभी आरक्षण नहीं दिया, जिसने सामान्य वर्ग के गरीबों को कभी आरक्षण नहीं दिया, जिसने बाबा साहब को भारत रत्न के योग्य नहीं माना, केवल अपने परिवार को भारत रत्न देते रहे। वो अब हमें उपदेश दे रहे हैं, वो अब हमें सामाजिक न्याय का पाठ पढ़ा रहे हैं।’

पीएम ने कहा- ‘जिस कांग्रेस ने सत्ता के लालच में सरेआम लोकतंत्र का गला घोंट दिया था, जिस कांग्रेस ने दर्जनों बार लोकतांत्रिक तरीके से आई सरकारों को रातों-रात बर्खास्त कर दिया था, जिस कांग्रेस ने अखबारों पर भी ताले लगाने की कोशिश की थी। अब देश को तोड़ने का नैरेटिव उस कांग्रेस ने गढ़ना शुरू कर दिया है। अब देश को उत्तर-दक्षिण में तोड़ने के बयान दिए जा रहे हैं।’

राज्यसभा में पीएम मोदी ने कहा कि मेरा विश्वास पक्का हो गया है कि कांग्रेस पार्टी सोच से भी आउटडेटेड हो गई है। जब सोच ही आउटडेटेड हो गई है तो इन्होंने अपना कामकाज भी आउटसोर्स कर दिया है। देखते ही देखते इतना बड़ा दल, इतने दशकों तक देश पर राज करने वाले दल का ऐसा पतन। हमें खुशी नहीं हो रही बल्कि हमारी आपके प्रति संवेदनाएं हैं।

पीएम ने कहा कि पश्चिम बंगाल से चुनौती आई है कि कांग्रेस 40 पार नहीं कर पाएगी। मैं प्रार्थना करता हूं कि आप 40 बचा पाएं।

प्रधानमंत्री ने कहा- ‘हम बड़े धैर्य और नम्रता के साथ आपके एक-एक शब्द को सुनते रहे हैं, लेकिन आप आज भी न सुनने की तैयारी के साथ आए हैं। परंतु मेरी आवाज को आप दबा नहीं सकते। देश की जनता ने इस आवाज को ताकत दी है। इसलिए मैं भी इस बार पूरी तैयारी के साथ आया हूं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव का जवाब दे रहे हैं। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि मैं राष्ट्रपति को धन्यवाद देता हूं। उन्होंने कहा कि आलोचना करना कुछ साथियों की मजबूरी हो गई है।

पीएम ने कहा- ‘ये 75वां गणतंत्र दिवस अपने आप में महत्वपूर्ण है। राष्ट्रपति का भाषण उसका ऐहितासिक महत्व रहता है। भारत के कोटि-कोटि जनों का जो सामर्थ्य है, उस सामर्थ्य को कम शब्दों में समझादारी से देश के सामने प्रस्तुत किया है।
संसद के बजट सत्र की कार्यवाही को एक दिन के लिए बढ़ा दिया गया है। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने बुधवार को घोषणा की है कि संसद का बजट सत्र एक दिन बढ़ाकर 10 फरवरी तक कर दिया गया है। संसद का बजट सत्र 9 फरवरी को समाप्त होना था।

राष्ट्रपति के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव (PM Modi Speech) पर कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खरगे ने सदन में जवाब दिया। उन्होंने कहा कि जब भी मैं सदन में बोलता हूं तो उसे कार्यवाही से हटा दिया जाता है।

कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने भारत-चीन सीमा स्थिति पर चर्चा के लिए लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया।
पीएम मोदी के संबोधन के बाद राज्यसभा में अंतरिम बजट 2024-25 और जम्मू-कश्मीर पर अंतरिम बजट 2024-25 पर सामान्य चर्चा शुरू होगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव का जवाब देंगे। इससे पहले उन्होंने सोमवार को लोकसभा में जवाब दिया था।

बता दें कि बजट सत्र के पहले दिन 31 जनवरी को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने लोकसभा और राज्यसभा की संयुक्त बैठक को संबोधित किया था। इसके बाद 1 फरवरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा अंतरिम बजट पेश किया गया।

Leave a Reply