Sponsored
loading...

Festive Season से पहले सोने व चांदी में भारी गिरावट, जानें- कितनी हुई कीमतें

0
1552

नई दिल्ली,Gold Rate Today: भारत में त्योहारी सीजन शुरू होने से ठीक पहले सोने-चांदी के दामों में भारी गिरावट दर्ज की गई है। शनिवार रात सोने की कीमतें पिछले करीब ढाई महीने के निचले स्तर पर पहुंच गई हैं। ऐसे में भारतीय सर्राफा व्यापारियों ने सोने-चांदी की खरीद तेज कर दी है।

बिहार में बारिश का कहर जारी: रूकी ट्रेनों की रफ्तार, पटना में सड़कों पर चल रही नाव

न्यू एजेंसी रायटर्स के अनुसार सोने-चांदी की स्थानीय कीमतें शुक्रवार रात छह सप्ताह के निचले स्तर पर पहुंच गई हैं। इसकी वजह सोने की मांग में कमी को बताया जा रहा है। ऐसे में अब सोने के भाव कम होते ही भारतीय सर्राफा बाजार में खरीदारी तेज हो गई है। व्यापारी त्योहारी सीजन की तैयारी में स्टॉक जमा करने में जुट गए हैं।शुक्रवार को दिन में सोने की कीमत 37,399 रुपये प्रति 10 ग्राम तक पहुंच गईं थीं। हालांकि सर्राफा बाजार बंद होने तक सोने की कीमतों में 46 रुपये की मामूली बढ़त दर्ज की गई और बाजार बंद होने तक सोने के भाव 37,445 रुपये प्रति 10 ग्राम तक पहुंच चुके थे। बावजूद सोने की ये कीमतें 13 अगस्त के बाद सबसे निचले स्तर पर हैं।

मुंबई के एक डीलर ने न्यूज एजेंसी को बताया कि

मुंबई के एक डीलर ने न्यूज एजेंसी को बताया कि सोने की कीमतों में गिरावट के साथ ही देश भर से सर्राफा व्यापारियों के ऑर्डर मिलने लगे हैं। बुलियन डीलर्स सोने की खरीद को बढ़ावा देने के लिए घरेलू व्यापारियों को 12 डॉलर प्रति औंस की छूट दे रहे हैं। गुरुवार को ये छूट 40 डॉलर और पिछले सप्ताह 47 डॉलर प्रति औंस तक थी। घरेलू कीमतों में 12.5 प्रतिशत आयात शुल्क और तीन फीसद सेल्स टैक्स भी शामिल है।कलकत्ता के एक सर्राफा व्यापारी के अनुसार श्राद्ध की वजह से सोने की कीमतें कम होने के बावजूद खुदरा बिक्री न के बराबर है। भारत में श्राद्ध के दौरान सोने-चांदी या आभूषणों की खरीदारी बहुत कम हो जाती है। उम्मीद है कि श्राद्ध खत्म होने के बाद खुदरा बिक्री बढ़ेगी। अगले सप्ताह से सबसे लंबा त्योहारी सीजन शुरू होने जा रहा है। इस दौरान खुदरा बाजार में सोने-चांदी की जमकर खरीदारी होती है।

अगले महीने अने वाले दिवाली व दशहरा और फिर शादी के सीजन की वजह से वर्ष की अंतिम तिमाही में सोने-चांदी की खरीदारी में उछाल आ सकता है। भारत में भले ही सोने की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई हो, लेकिन वैश्विक बाजार में सोने की कीमतें रिकॉर्ड स्तर पर ही हैं। सिंगापुर स्थित गोल्डसिल्वर सेंट्रल के प्रबंध निदेशक ब्रायल लैन ने न्यूज एजेंसी को बताया कि आने वाले समय में वैश्विक बाजार में सोने की खरीदारी कम हो सकती है, क्योंकि सोने की कीमतें छह साल के उच्चतम स्तर पर हैं।

मालूम हो चीन दुनिया का सबसे बड़ा सोने का खरीदार है। हॉगकॉग में लंबे समय से चल रहे विरोध प्रदर्शनों के बावजूद सोने-चांदी की कीमतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। भारतीय सर्राफा कारोबारियों के अनुसार कमजोर वैश्विक रुख और रुपये में मजबूती के कारण भारत में सोने के भाव में यह गिरावट देखने को मिल रही है। गौरतलब है कि गुरुवार को सर्राफा बाजार में 24 कैरेट सोना 38,685 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। ऐसे में भारतीय खरीदों के लिए फिलहाल ज्वैलरी की खरीदारी का बेहतरीन मौका है।

भारतीय बाजार में सोने के साथ ही चांदी की कीमतों में भी गिरावट

भारतीय बाजार में सोने के साथ ही चांदी की कीमतों में भी गिरावट देखी जा रही है है। शुक्रवार को सर्राफा बाजार में चांदी में 851 रुपये की गिरावट दर्ज की गई थी। इस गिरावट के बाद एक किलो चांदी की कीमत 46,384 रुपये हो गई है। पिछले सत्र में चांदी की कीमत 47,235 रुपये प्रति किलोग्राम थी। बताया जा रहा है कि चांदी की कीमतों में गिरावट की वजह, औद्योगिक इकाइयों और सिक्का कारोबारियों द्वारा लिवाली कम होना है।

महिला हॉकी: आखिरी मिनट में गुरजीत के गोल से जीता भारत, ग्रेट ब्रिटेन को 2-1 से दी मात

loading...

LEAVE A REPLY