गैस की चोरी रोकने और सही उपभोक्ताओं की पहचान के लिए के नई व्यवस्था लागू

0
105

नई दिल्ली: एलपीजी सिलिंडर की होम डिलीवरी की प्रक्रिया अगले महीने से बदलने जा रही है। 1 नवंबर से आपको अपने घर पर गैस सिलिंडर मंगाने के लिए ओटीपी की जरूरत पड़ेगी। रिपोर्ट्स के मुताबिक तेल कंपनियां गैस की चोरी रोकने और सही उपभोक्ताओं की पहचान के लिए के नई व्यवस्था लागू करने जा रही है। इसे Delivery Authentication Code (DAC) नाम दिया गया है।

त्यूनी में बन रहे 100 बेड के अस्पताल के लिये मुख्यमंत्री ने स्वीकृत की 07 करोड़ की धनराशि

1 नवंबर से आपको अपने घर पर गैस सिलिंडर मंगाने के लिए ओटीपी की पड़ेगी जरूरत

Delivery Authentication Code (DAC) को सबसे पहले 100 स्मार्ट शहरों में लागू किया जाएगा। इसके लिए पहले ही राजस्थान की राजधानी जयपुर में एक पायलट प्रोजेक्ट चल रहा है। इस सिस्टम के तहत सिलिंडर की बुकिंग के बाद उपभोक्ता के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक कोड भेजा जाएगा। डिलीवरी पर्सन को कोड दिखाने के बाद ही सिलिंडर की डिलीवरी होगी।

किसे होगी दिक्कत

अगर उपभोक्ता का मोबाइल नंबर अपडेट नहीं है तो डिलीवरी पर्सन एक ऐप के जरिए इसे रियल टाइम में अपडेट करेगा और कोड जेनरेट करेगा। इस व्यवस्था के लागू होने से उन लोगों को परेशानी होगी जिनका पता या मोबाइल नंबर गलत है। गलत जानकारी के कारण उनके गैस सिलिंडर की डिलीवरी बंद हो सकती है। 100 स्मार्ट शहरों के बाद इसे दूसरे शहरों में लागू किया जाएगा। यह सिस्टम कमर्शियल सिलिंडरों पर लागू नहीं होगा।

त्यूनी में बन रहे 100 बेड के अस्पताल के लिये मुख्यमंत्री ने स्वीकृत की 07 करोड़ की धनराशि

LEAVE A REPLY