शराब खरीदने वालों पर की गई फूलों की वर्षा..जाने क्या है पूर मामला

0
204
लॉक डाउन में शराब की दुकानों को खोलने की छूट के बाद शराब की दुकानों में आपने लंबी लंबी लाइन के नजारे देखे होंगे लेकिन शराब पीने वालों पर फूलों की वर्षा भी होती है उसकी एक झलक उत्तरकाशी से देखने को मिली है ।
सरकार द्वारा लॉक डाउन में शराब की दुकानों को खोलने की छूट देने के बाद पहाड़ से मैदान तक शराब की दुकानों के बहार भीड़ लग गई, जिसके बाद सोशल मीडिया में कई लोग इनका समर्थन कर,आर्थिक वॉरियर्स का दर्जा दे रहे हैं तो कुछ सरकार के इस फैसले का विरोध कर रहे हैं।

तो वही उत्तरकाशी के डुंडा गांव की महिलाओं ने शराब खरीदने वालों का अनोखा विरोध किया है महिलाएं शराब खरीदने वाले हर शख़्स पर फूल बरसा रही है। महिलाओं ने बताया कि फूल बरसाने का कारण लोगों को शर्मिंदा करना है ताकि उन्हें यह एहसास हो सके कि शराब अभी -भी सामाजिक बुराई है।इससे जितना दूर रहें उतना अच्छा है।
वैसे उत्तराखण्ड की  महिलाओं का शराब के खिलाफ जंग का पुराना नाता है। उत्तराखंड में 90 के दशक में शराब का विरोध की शुरुआत महिलाओं से हुई थी जिसके बाद पहाड़ी क्षेत्रों में काफी शराब की दुकानें बंद हुई थी लेकिन आज उत्तराखंड की बदकिस्मती है कि उसका आधे से ज्यादा बजट शराब पर ही निर्भर है

LEAVE A REPLY