वन विकास निगम कर्मचारियों ने थाली बजाकर किया प्रदर्शन

0
190

देहरादून। लंबे समय से ऑडिट आपत्तियों के नाम पर हो रहे शोषण के विरोध में ( Uttarakhand Forest Development Corporation ) उत्तराखंड वन विकास निगम के कर्मचारियों ने विभाग को जगाने के लिए  थाली बजाकर प्रदर्शन किया

केन्द्रीय कार्यालय में स्वर्गीय सतीश सेमवाल को भावभीनी की श्रद्धांजलि अर्पित

यहां वन विकास निगम कार्मिक संयुक्त मंच के संयोजक व कार्यकारी अध्यक्ष टी एस बिष्ट के नेतृत्व में तिब्बती मार्केट के पास इकटठा हुए और वहां पर उन्होंने अपनी मांगों के समाधान को थाली बजाकर विरोध प्रदर्शन किया। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि वन विकास निगम में दो वर्ष से लगातार ऑडिट आपत्तियों के नाम पर बिना कंपलाइंस रिपोर्ट दिए कार्मिकों का वेतन काटा गया। वक्ताओं ने कहा कि सेवानिवृत्त हो चुके कार्मिकों के देयकों से 15 से 25 लाख की वसूली की जा रही है। अदालत के निर्णय होने के बावजूद

वक्ताओं ने कहा

वर्तमान  प्रबंध निदेशक इसी साल अक्टूबर महीने में सेवानिवृत्त  हो रहे हैं। वह कार्मिकों की समस्याओं के समाधान के लिए ध्यान नहीं दे रहे हैं।  वक्ताओं ने कहा कि वन विकास निगम कार्मिक संयुक्त मंच ने निगम को कुछ समय पहले एक ज्ञापन सौंपा था।

Uttarakhand Forest Development Corporation के अनेक कर्मचारी रहे मौजूद 

इसमें वन विकास निगम में भ्रष्टाचार की जांच में  दोषी अधिकारियों को दंडित करने, मोटे वेतन पर आउटसोर्स से रखे गए चहेतों को हटाने, राज्य कार्मिकों की भांति मकान किराया भत्ता, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों  से प्रोन्नति, ऑउटसोर्स कार्मिकों का उत्पीडऩ बंद करने की मांग की गई है। वक्ताओं ने कहा कि इसके साथ ही साथ शासनादेशों का अनुपालन, सेवानिवृत्त हो चुके कार्मिकों के देयकों का भुगतान करने आदि समस्याओं उठाया गया था। वक्ताओं ने कहा कि इन पर भी कार्रवाई नहीं की जा रही है जो चिंता का विषय है। इस अवसर पर अनेक वक्ताओं ने संबोधित किया। इस अवसर पर अनेक कर्मचारी मौजूद रहे।

रोडवेज के संविदा चालकों व परिचालकों की बहाली किये जाने व सात माह से वेतन न मिलने के कारण डिपो पर प्रदर्शन

 

LEAVE A REPLY