नेशनल हाईवे मुआवजा घोटाले में तीन गिरफ्तार

0
502

गुरुवार को निलंबित पीसीएस अधिकारी एनएस नगन्याल, बाजपुर के चकबंदी अधिकारी अमर सिंह और सहायक चकबंदी अधिकारी गणेश प्रसाद को एनएच 74 मुआवजा घोटाले में एसआईटी ने गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के बाद नगन्याल और अमर सिंह को नैनीताल स्थित भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की विशेष कोर्ट में पेश किया गया। जहां से दोनों को जेल भेज दिया गया। जबकि सहायक चकबंदी अधिकारी को शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

एनएस नगन्याल पर बाजपुर में एसडीएम रहते हुए एनएच से जुड़े 28 मामलों को बैकडेट में 143 करने का आरोप है। इस आधार पर मुआवजे का गलत निर्धारण कर करोड़ों के राजस्व का नुकसान पहुंचाकर सिंडीकेट ने अनुचित लाभ लिया। एसआईटी की तफ्तीश और राज्य फॉरेसिंक लैब की रिपोर्ट ने नगन्याल पर लगे आरोपों की पुष्टि कर दी थी। एसआईटी लंबे समय से नगन्याल की खोज में थी। उनके खिलाफ कोर्ट से गैर जमानती वारंट लेने के साथ बीते बुधवार को उनके आवास पर कुर्की का नोटिस भी लगाया गया।

143 के मामलों में लगाई गलत रिपोर्ट

गुरुवार को एसआईटी ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। इसके साथ बाजपुर के चकबंदी अधिकारी अमर सिंह और सहायक चकबंदी अधिकारी ने अधिकार क्षेत्र से बाहर जाकर चकबंदी के गांवों में की गई 143 के मामलों में गलत रिपोर्ट लगाई। जबकि चकबंदी के गांवों में भू उपयोग बदलने को नियमानुसार 5सी की प्रक्रिया अपनाई जाती है। एसआईटी ने निलंबित पीसीएस अफसर व चकबंदी अधिकारी को गुरुवार सुबह जबकि सहायक चकबंदी अधिकारी को दोपहर बाद गिरफ्तार किया गया।

LEAVE A REPLY