एक ही रात में चोरों ने तोड़े नौ घरों के ताले

0
500

लंबे समय बाद क्षेत्र चोरी की बड़ी वारदात से दहल उठा है। विकासखंड के छतीनाखाल गाव में चोर गिरोह ने एक ही रात में बंद पड़े पाच मकानों के ताले तोड़ डाले। सभी घरों के परिजन क्षेत्र से बाहर रहते हैं। एक गृहस्वामी एक रात के लिए अपने दूसरे मकान में सोने गया था। पुलिस ने गाव का मुआयना कर जाच शुरू कर दी है।

बंद पड़े मकानों को बारी-बारी बनाया निशाना

चोर गिरोह ने छतीनाखाल गांव के प्रमोद उपाध्याय पुत्र रामदत्त, बलादत्त उपाध्याय पुत्र हरी दत्त, प्रकाश चंद्र पुत्र गोविंद बल्लभ, चंद्रप्रकाश उपाध्याय पुत्र उद्यानन्द उपाध्याय तथा दिनेश चंद्र उपाध्याय पुत्र प्रेम बल्लभ बंद पड़े मकानों को बारी-बारी निशाना बना डाला। इनमें से प्रकाश चंद्र करीब 75 मीटर की दूरी पर अपने दूसरे मकान में सोने चला गया था। मंगलवार को ग्रामीणों ने उसके घर का ताला टूटा देखा तो उसे सूचित किया। इस दौरान अन्य बंद पड़े मकानों के भी ताले टूटे दिखाई दिए।

थाने में सूचना पर एसआई पंकज बेलवाल के नेतृत्व में पुलिस टीम पहुंची। मौका मुआयना किया। एसआई पंकज बेलवाल के अनुसार जाच शुरू कर दी गई है। अलबत्ता गृहस्वामियों की तहरीर से ही स्पष्ट होगा कि माल कितना चोरी गया है।

लाखों के जेवर व नकदी पर किया हाथ साफ

चैखुटिया के गांवों में फिर चोरी की वारदातें बढ़ने लगी हैं। धनस्यारी राजस्व पुलिस क्षेत्र अंतर्गत रमनागांव में एक ही रात में अज्ञात चोरों ने चार घरों में सेंध लगाकर नकदी व लाखों के जेवरात पर हाथ साफ कर लिया। सूचना पर राजस्व टीम ने मौका मुआयना कर स्थिति का जायजा लिया एवं अपराध पंजीकृत कर चोरी के मामलों की तफ्तीश प्रारंभ कर दी है। बताया गया है कि चोरों ने तीन घरों में किसी का न होने का फायदा उठाया। इससे गांव में भय का माहौल बन गया है।

LEAVE A REPLY