जौलासाल जंगल में मिली हथियारों की फैक्ट्री, वन्यजीवों के अवशेष भी मिले

0
583

एक बार फिर चोरगलिया से सटे जौलासाल के जंगल में असलहा बनाने की फैक्ट्री पकड़ी गई है। छापेमारी में दो संदिग्ध व्यक्ति हिरासत में लिए गए हैं। चोरगलिया थाने में पूछताछ करने के बाद उन्हें रेंज कार्यालय लाया गया है। मौके से वन्यजीवों के अवशेष भी मिले है। दो वर्ष पूर्व भी इसी जंगल में हथियार बनाने की फैक्ट्री पकड़ी गई थी।

हल्द्वानी वन प्रभाग के डीएफओ डॉ. चंद्रशेखर सनवाल को मुखबिर के माध्यम से सूचना मिली थी कि जौलासाल के जंगल में कुछ संदिग्ध घूम रहे हैं। इसके बाद वन विभाग और पुलिस टीम ने जंगल में कॉम्बिंग शुरू की। घंटों जंगल छानने के बाद चुगाढ़ बीट के कंपार्ट नंबर आठ में टीम ने हथियार बनाने का सामान बरामद किया। कुछ अर्ध निर्मित हथियार भी मिले हैं।

जंगल के एरिया से ही दो संदिग्ध भी टीम के हत्थे चढ़ गए। ऊधमसिंह नगर के शक्तिफार्म निवासी दोनों संदिग्धों से फिलहाल पूछताछ चल रही है। डीएफओ ने बताया कि वन्यजीव अवशेष किस जीव के है, इसकी भी जांच कराई जा रही है।

घना जंगल और माओवादियों की सक्रियता

जौलासाल का जंगल काफी घना होने के कारण माओवादियों की सक्रियता को लेेकर भी लगातार चर्चा में रहा है। 2004 में यहां माओवादी ट्रेनिंग कैंप भी पकड़ा जा चुका है। इससे खुफिया एजेंसियां भी चैकन्नी हो गई हैं।

LEAVE A REPLY