नेता और नारे समाज में परिवर्तन नहीं ला सकतेः प्रकाश पंत

0
472

जल संसाधन एवं वित्तमंत्री प्रकाश पंत ने शुक्रवार को हरकी पैड़ी पर नमामि गंगे के स्वच्छता पखवाड़ा का उद्घाटन किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि नेता और नारे समाज को नहीं बदल सकते। सामाजिक परिवर्तन के लिए समाज को स्वयं आगे आना पड़ता है। उन्होंने कहा कि गंगा को प्रदूषित करने वालों के खिलाफ आपराधिक मुकदमे करने दर्ज सहित अन्य कई बिंदुओं पर सरकार तेजी से काम कर रही है।

नमामि गंगे मिशन की तरफ से 16 से 31 मार्च तक गंगा स्वच्छता पखवाड़ा मनाया जाएगा। हरकी पैड़ी पर पखवाड़े का उद्घाटन करते हुए कैबिनेट मंत्री प्रकाश पंत ने कहा कि 1981 में वैज्ञानिक परीक्षणों से पता चला था कि गंगाजल में प्रदूषण की मात्रा बेहद बढ़ गई है। जिसके चलते 1985 में 901 करोड़ रुपये का गंगा एक्शन प्लान शुरू किया गया था। इसके बाद कई योजनाएं शुरू हुईं, लेकिन नतीजे निराशाजनक रहा।

गंगा को स्वच्छ करने के लिए समाज को आना होगा आगे

गंगा को स्वच्छ बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नमामि गंगे प्रोजेक्ट की शुरुआत की। कहा कि गंगा को स्वच्छ करने के लिए समाज को आगे आना होगा। गंगा के किनारे बसे सभी गांव को गंगा ग्राम का दर्जा दिया जाएगा। ढाई हजार किलोमीटर तक गंगा के साथ सभी वन उपवन और जैव विविधता बनी रहे इसके प्रयास नमामि गंगे के तहत किए जा रहे हैं। सॉलिड वेस्ट मेनेजमेंट, गंगा को प्रदूषित करने वालों पर आपराधिक मुकदमे, औद्योगिक कचरा डालने वालों के खिलाफ कानून और गंगा रक्षा के लिए टॉस्क फोर्स के गठन समेत कई बिंदुओं पर काम चल रहा है।

LEAVE A REPLY