उत्तराखंड क्रांति दल के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने रोडवेज कर्मियों के साथ धरना प्रदर्शन किया, सरकार व उत्तराखंड परिवहन निगम के खिलाफ नारेबाजी की

0
221

देहरादून। निष्कासित किये गये चालकों व परिचालकों की बहाली व सात माह से रूका वेतन न दिये जाने के विरोध में उत्तराखंड क्रांति दल देहरादून महानगर इकाई के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने दून मे हरिद्वार रोड स्थित रोडवेज वर्कशॉप पर भी उत्तराखंड क्रांति दल के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने रोडवेज कर्मियों के साथ धरना प्रदर्शन किया तथा सरकार तथा उत्तराखंड परिवहन निगम के खिलाफ नारेबाजी की।

 इस अवसर पर कहा कि

इस अवसर पर कहा कि शीघ्र ही कार्यवाही न होने पर आंदोलन तेज किया जायेगा।
यहां दल के कार्यकर्ता केन्द्रीय महामंत्री शांति प्रसाद भटट व शिव प्रसाद सेमवाल के नेतृत्व में  हरिद्वार रोड स्थित रोडवेज की वर्कशॉप में पहंुचे और   रोडवेज इम्पलाइज यूनियन के साथ मिलकर चालकों व परिचालकों की बहाली व सात माह का वेतन दिये जाने की मांग को लेकर वहां पर जमकर प्रदर्शन किया और सरकार व विभाग के खिलाफ नारेबाजी की। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि कल 23 अक्टूबर को उत्तराखंड क्रांति दल आईएसबीटी स्थित रोडवेज बस अड्डे पर धरना प्रदर्शन करेगा। इस तरह के कार्यक्रम तब तक जारी रहेंगे जब तक कर्मचारियों को न्याय नहीं मिल जाता।

वक्ताओं ने कहा कि धरने के माध्यम से उत्तराखंड क्रांति दल ने एक स्पष्ट संदेश दिया कि अब किसी भी तरह से कर्मचारियों का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। वक्ताओं ने कहा कि वर्ष 2012 वर्ष 2014 एवं वर्ष 2017 से संविदा चालक और परिचालक के रूप में जो कर्मचारी कार्य कर रहे हैं, उन्हें अचानक 28 मई 2020 को निगम प्रबंधन के द्वारा 10 जून 2020 तक अनुबंध पत्र के नवीनीकरण का तुगलकी आदेश जारी किया गया इस क्रम में लगभग 400 संविदा कर्मचारी जो है वह अनुबंध पत्र का नवीनीकरण नहीं करा पाए आज परिवहन निगम द्वारा इन कर्मचारियों का पूर्णता शोषण किया जा रहा है।

वक्ताओं ने कहा कि इन कर्मचारियों को अप्रैल 2020 से अभी तक वेतन का भुगतान नहीं किया गया है जबकि उच्च न्यायालय नैनीताल द्वारा 23 सितंबर को उन्हें अंतरिम राहत प्रदान करते हुए निगम प्रबंधन को आदेश दिया गया था कि संविदा चालक और परिचालकों को बिना अनुबंध पत्र के नवीनीकरण के कार्य पर लिया जाए तथा अविलंब उनका वेतन जो है यथा शीघ्र भुगतान किया जाए किंतु निगम प्रबंधन के द्वारा आज की तिथि तक भी इन कर्मचारियों को न कार्य पर लिया गया और ना ही इनके वेतन का भुगतान किया गया है।

उत्तराखंड क्रांति दल ने परिवहन निगम प्रबंधन से यह मांग की है कि

इस अवसर पर धरना प्रदर्शन के माध्यम से आज उत्तराखंड क्रांति दल ने परिवहन निगम प्रबंधन से यह मांग की है कि इन कर्मचारियों की मानवीय आधार पर मदद करते हुए उन्हें तुरंत कार्य पर लिया जाए तथा अविलंब इनके रुके हुए वेतन का भुगतान किया जाए अगर प्रबंधन इस संबंध में किसी भी तरह का कोई सकारात्मक कार्य नहीं करता है तो उत्तराखंड क्रांति दल इस संघर्ष को लेकर जन आंदोलन करने के लिए बाध्य होगा।

इस मौके पर केंद्रीय महामंत्री शांति प्रसाद भट्ट, जिला महामंत्री सोमेश बुड़ाकोटी, राजेश्वरी रावत, जिला महिला मोर्चा अध्यक्ष किरन रावत कश्यप, सुनील ध्यानी, जिला कार्यकारी अध्यक्ष केंद्र पाल सिंह तोपवाल, शिव प्रसाद सेमवाल आदि दर्जनों कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY