Sponsored
loading...

समाज को नई दिशा देने में सहायक होगी परेश की पुस्तक डांट अंडरस्टैंड

0
814
अल्मोड़ा। समाज के विभिन्न पहुलों को अध्यात्म से जोड कर लिखी गयी परेश भंडारी की पुस्तक डान्ट अन्डरस्टैण्ड का विमोचन सिस्टर निवेदिता काॅटेज देवदार इन में किया गया। पुस्तक विमोचन समारोह में पुस्तक की महत्ता के सम्बन्ध में चर्चा करते हुए इस पुस्तक को समाज के लिए उपयोगी बताया गया। पुस्तक का विमोचन आवासीय विश्वविद्यालय के कुलपति डा. एच एस धामी ने किया।
          पुस्तक का विमोचन कर रहे मुख्य अतिथि आवासीय विश्वविद्यालय उत्तराखण्ड के कुलपति डा. एचएस धामी ने कहा कि परेश भण्डारी की लिखी डान्ट अण्डरस्टैण्ड पुस्तक समाज के लिए काफी उपयोगी होगी। इस पुस्तक में समाज के ताने बाने को आध्यात्म से जोड कर लिखा गया है जो समाज को नई दिशा प्रदान करेगी। इसमें जीवन  के कई आयामों को सम्मलित किया गया है। आवासीय विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार बीसी जोशी ने कहा कि पुस्तक सामाजिक, सांस्कृतिक, मनोवैज्ञानिक, दार्शनिक, वैज्ञानिक और आध्यात्मिक विषयों जैसे अध्ययन, विवाह, साम्प्रदायिकता, समय, प्रेम को संबोधित करने का एक नया दृश्टिकोण है।
पुस्तक के लेखक परेश भंडारी ने बताया कि यह पुस्तक आध्यात्मिक सूचकांक की रचना करने में अग्रणी कार्य करने के लिए प्रेरित करेगी जिससे यह देखा जा सकेगा कि मानव जाति जीवन को बना रही है या नष्ट कर रही हैं। यह पुस्तक न केवल गुमराह लोगों, बल्कि पुस्तकालयों, विशेश रुप से व्यक्तिगत पुस्तकालयों को भी पूर्णता प्रदान करेगी। इस पुस्तक में समाज के विभिन्न पहलुओं को लिखा गया है जिसमें विवाह, प्रेम, मनोविज्ञान, विज्ञान रंगकर्म सहित इसको अध्यातम से जोडा गया है। उनका मानना है कि जीवन को सफल बनाने के लिए आध्यात्म को आत्मसात करना चाहिए। पुस्तक में सौहार्द से जीने के लिए प्रेरित किया गया है। कार्यक्रम का संचालन विभु कृष्णा ने किया। कार्यक्रम में डा़ बीसी जोशी, गिरीश साह, विजया भंडारी, पदमा सनवाल, अनिल सनवाल, एचएन सनवाल, नीमा सनवाल, राजेंद्र मुनगली, गीता मुनगली, विश्वनाथ पाठक, अखिलेश भंडारी, डा. रमेश चंद्र लोहुमी, वेंकटेश सनवाल, सुमन सनवाल, सौम्य सनवाल,  योगेश तिवारी, संजय जोशी, रंगकर्मी ध्रुुव टम्टा, कुलदीप सिंह आदि मौजूद रहे।
loading...

LEAVE A REPLY