बालिकाएं अपने को कदापि कमजोर नहीं समझें

0
494

गरुड़ में तहसील के राजकीय इंटर कॉलेज बंतोली में द हिमालय ट्रस्ट के माध्यम से एक दिवसीय किशोरी सम्मेलन का आयोजन किया गया। मौके पर बालिकाओं को प्रोत्साहन देने पर जोर दिया गया। कार्यक्रम में बच्चों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किए। सम्मेलन का शुभारंभ करते हुए कस्तूरबा गांधी आश्रम कौसानी से आई प्रेमा बहन ने कहा कि आज बालिकाएं प्रत्येक क्षेत्र में आगे हैं।

उन्होंने बालिकाओं से कहा कि वे अपने को कदापि कमजोर नहीं समझें। अपनी पढ़ाई पर विशेष ध्यान दे। अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए कड़ी मेहनत करें। उन्होंने कहा कि आज अपनी मेहनत से देश और दुनिया में महिलाओं ने कीद्दतमान स्थापित किए हैं। द हिमालय ट्रस्ट के क्षेत्रीय संयोजक सदन मिश्रा ने कहा कि सम्मेलन का उद्देश्य पहाड़ के सामाजिक, आद्दथक व पर्यावरणीय विकास के लिए संगठनात्मक विचारधारा को बढ़ावा देना है।

उन्होंने कहा कि द हिमालय ट्रस्ट, सोइर- आईएम संस्था के वित्तीय सहयोग से भगरतोला न्याय पंचायत के 20 गावों में महिला सशक्तीकरण, आथर््िाक विकास व निर्णयों, अधिकारों में लैंगिक समानता को सुनिश्चित करने के लिए प्रयासरत है। कार्यक्रम में जहां भुवनेश्वरी महिला आश्रम से आए कार्यकर्ताओं ने पिछले एक दशक से चल रहे नंदा किशोरी कार्यक्रम की उपलब्धियों की जानकारी दी।

समेकित विकास के लिए महिलाओं और किशोरियों का आगे आना आवश्यक

काश्तकार विकास समिति ने संगठन के माध्यम से आथर््िाक विकास को बढ़ावा देने पर जोर दिया। संस्था द्वारा बताया गया कि क्षेत्र के समेकित विकास के लिए महिलाओं और किशोरियों का आगे आना और आथर््िाक व सामाजिक क्षेत्र में प्रतिनिधित्व करना अति आवश्यक है । इस अवसर पर विद्यालय के प्रधानाचार्य चंद्रशेखर जोशी, भाजपा के मंडल अध्यक्ष मंगल राणा, डॉ आनंद बसवाल, दीक्षा बहन, ग्राम प्रधान शोभा बोरा, किशन बोरा, किशन राणा, अमर ¨सह राठौर समेत क्षेत्र की 350 बालिकाएं मौजूद थी।

LEAVE A REPLY