ऑनलाइन ठगी में दो लोग गिरफ्तार

0
657

पुलिस ने देहरादून के कांट्रेक्टर से विदेश में व्यापार कराने के नाम पर हुई ठगी में दिल्ली से एक नाइजीरियन समेत दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। अंतरराष्ट्रीय स्तर के इस गिरोह के सदस्यों के पास से चार मोबाइल फोन, एक लैपटॉप, चार एटीएम कार्ड भी बरामद हुए हैं, जिनसे गिरोह के देश के बाहर फैले नेटवर्क के बारे में कई अहम जानकारियां मिली हैं। वहीं, नाइजीरिया से लोगों को फोन कर झांसे में लेने वाली महिला की गिरफ्तारी के लिए दून पुलिस ने इंटरपोल से मदद मांगी है।

ठगी के शिकार हुए संजीव कुमार रौथाण निवासी नवादा कुटला थाना नेहरू कॉलोनी पेशे से कांट्रेक्टर हैं। दिसंबर में उनके फेसबुक पर मेलोडी बर्गोयना के नाम से विदेशी महिला की फ्रेंड रिक्वेस्ट आई। इसे स्वीकार करने के कुछ ही दिन बाद मेलोडी ने उन्हें अपना वाट्सएप नंबर मैसेज किया और फिर दोनों के बीच चैटिंग होने लगी।

संजीव के बारे में पूरी जानकारी लेने के बाद एक दिन उसने कहा कि वह चाहें तो इंग्लैंड में व्यापार करने में वह उनकी मदद कर सकती है। मेलोडी ने इसके लिए भारत आकर मिलने की भी बात कही और बोली कि वह तीन जनवरी को दिल्ली आएगी।

संजीव को विश्वास दिलाने के लिए उसने वीजा और हवाई टिकट की फोटो भी वाट्सएप पर भेजा। तीन जनवरी को संजीव मेलोडी से मिलने दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंच गए। दिल्ली में उन्हें रोडिनपुइया नाम के शख्स का फोन आया, जिसने बताया कि मेलोडी को एयरपोर्ट पर कस्टम वालों ने रोक रखा है। वीजा अवैध होने व अन्य तकनीकी खामियों के चलते उस पर जुर्माना भी लगा दिया गया है।

4.38 लाख रुपये एक भारतीय बैंक अकाउंट में जमा कराए

इस दौरान मेलोडी ने भी उनसे बात की। इसे सच मानते हुए संजीव ने जुर्माना अदा करने के लिए नेटबैंकिंग के जरिये 4.38 लाख रुपये एक भारतीय बैंक अकाउंट में जमा करा दिए, मगर थोड़ी देर बाद फिर पैसे की मांग की गई तो उनका माथा ठनका और वह वापस देहरादून आकर नेहरू कॉलोनी पुलिस को सूचना दी। मामले में पुलिस ने नौ जनवरी को मेलोडी और रोडिनपुइया के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की।

विवेचना के दौरान पुलिस को उस बैंक खाते की डिटेल मिली, जिसमें संजीव ने पैसे जमा कराए थे। खाते की जांच के दौरान एक मोबाइल नंबर मिला। इस नंबर को सर्विलांस पर लगाया गया तो लोकेशन दिल्ली के महिपालपुर में मिली। लोकेशन ट्रेस करते हुए शुक्रवार को नेहरू कॉलोनी पुलिस की टीम ने एसआइ कमलेश कुमार की अगुआई में महिपालपुर के एक मकान पर छापा मारा।

यहां नाइजीरियन नागरिक फ्रौंसिस ऑस्टिन पुत्र ऑस्टिन ओकोफोर निवासी नेक्वेली जिला ओनिथ्सा राज्य अनंबरा नाइजीरिया व रोडिनपुइया पुत्र खाम थौमा ग्राम चंफाई मिजोरम की गिरफ्तारी हुई। दोनों के पास से मिले मोबाइल और लैपटॉप से पुलिस को गिरोह के संबंध में कई अहम जानकारी मिली है, जिससे गिरोह के और भी कारनामे आने वाले दिनों में सामने आ सकते हैं। आरोपियों को पुलिस ने शनिवार को कोर्ट में पेश कर दिया, जहां से दोनों को जेल भेज दिया गया।

LEAVE A REPLY