कई इलाकों में आंधी के साथ बारिश की संभावना

0
5458
देहरादून। उत्तराखंड में मौसम का मिजाज बदल गया है। सोमवार देर रात हुई बूंदाबांदी और तेज हवाओं के चलते तापमान में काफी गिरावट दर्ज की गई है। मंगलवार को भी प्रदेश की राजधानी दून में सुबह से बादल छाए रहे। मौसम विज्ञान केंद्र की मानें तो आने वाले दो से तीन दिन तक प्रदेश के मैदानी इलाकों में तेज हवाओं के साथ बूंदाबांदी होगी।
वहीं, पहाड़ी इलाकों में हिमपात होने की आशंका है। मौसम विज्ञान केंद्र देहरादून के मौसम वैज्ञानिक रोहित थपलियाल ने बताया कि उत्तराखंड में तीन से चार दिन गर्मी से राहत मिलेगी। वहीं, प्रदेश के उच्च हिमालयी क्षेत्रों में विशेषकर 3500 से 4000 मीटर तक के ऊंचाई वाले इलाकों में बारिश के साथ हल्की बर्फबारी होने की भी संभावना है।
राजधानी देहरादून में दिन का तापमान 36 डिग्री तक पहुंच रहा था, लेकिन सोमवार रात हुई बूंदाबांदी से तापमान में लगभग 10 डिग्री तक की गिरावट दर्ज की गई है।

खराब मौसम के कारण केदारनाथ यात्रा रोकी

केदारनाथ की यात्रा जिला प्रशासन ने रोक दी है। खराब मौसम को इसका कारण बताया जा रहा है। भारी संख्या में केदारनाथ जाने के लिए पहुंचे श्रद्धालुओं को सोनप्रयाग और गौरीकुण्ड में रोका गया है। उन्हें धाम तक की यात्रा करने की मनाही है। सभी श्रद्धालुओं को होटल में रुकने की सलाह दी गई है। जिला प्रशासन ने यह भी कहा है कि जो इंतजार नहीं करना चाहते वे पहले बदरीनाथ की यात्रा पर चले जाएं।
रुद्रप्रयाग जिला प्रशासन के अधिकारियों ने बताया कि केदारनाथ में सुबह दस बजे से बारिश हो रही थी। दोपहर करीब ढाई बजे से बर्फबारी भी शुरु हो गई। पैदल मार्ग पर बर्फ पड़ने से यात्रियों को दिक्कत भी हो रही थी क्योंकि इससे फिसलन बढ़ गई थी। यात्रा शुरु होने के बाद से केदारनाथ में तीन बार बर्फबारी हो चुकी है। केदारनाथ के लिए हेलीकॉप्टर सेवा के न शुरु होने से भी गौरीकुण्ड और सोनप्रयाग में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ जमा हो रही है।

LEAVE A REPLY