बीबीए की छात्रा ने पेश की ईमानदारी की मिसाल

0
530

मंगलवार शाम को ईसी रोड स्थित बैंक ऑफ इंडिया के एटीएम में छूटे 10 हजार रुपये वापस बैंक को लौटाकर बीबीए की छात्रा ने ईमानदारी की मिसाल पेश की है। अब बैंक एटीएम डाटा की जांच कर पता कर रहा है कि यह रकम किस खाते से निकली है, ताकि उस ग्राहक को रकम वापस की जा सके।

डालनवाला निवासी बीबीए छात्रा ज्योतिका बंसल रुपये निकालने के लिए ईसी रोड स्थित बैंक ऑफ इंडिया के एटीएम में गई। वह बूथ में जैसे ही पहुंची, एटीएम स्क्रीन पर कलेक्ट योर कैश लिखा हुआ था। कैश विंडो पर दस हजार रुपये फंसे हुए थे। ज्योतिका के मुताबिक पहले तो समझ नहीं आया कि उसने अभी एटीएम स्वैप किया ही नहीं तो फिर रकम कैसे निकल गई।

बैंक ने की ज्योतिका तारीफ की

ज्योतिका ने तुरंत बैंक ऑफ इंडिया के बल्लूपुर ब्रांच के मैनेजर डीसी गैरोला को फोन कर इसकी जानकारी दी। गैरोला ने उन्हें बताया कि उनसे पहले किसी ने रुपये निकालने के लिए एटीएम स्वैप किया होगा और वह या तो रकम लेना भूल गए या फिर प्रोसेज में देरी होने पर वह बगैर रकम लिए ही बूथ से वापस लौट गए होंगे। मैनेजर गैरोला के सुझाव पर ज्योतिका बुधवार को बैंक ऑफ इंडिया बल्लूपुर पहुंची और एटीएम से मिले 10 हजार रुपये जमा करा दिए। बैंक ने इसके लिए ज्योतिका की तारीफ की है। बैंक मैनेजर डीसी गैरोला ने बताया कि एटीएम के डाटा की छानबीन की जा रही है, जिससे रकम संबंधित ग्राहक तक पहुंचाई जा सके।

LEAVE A REPLY