रेस्क्यू कर यमुना से निकाले तीन शव, एसडीआरएफ चला रही रेस्क्यू आपरेशन » Page Three: A Next Generation Newspaper:Page3
11.2 C
Dehradun,India
Wednesday, November 20, 2019
रेस्क्यू कर यमुना से निकाले तीन शव, एसडीआरएफ चला रही रेस्क्यू आपरेशन

रेस्क्यू कर यमुना से निकाले तीन शव, एसडीआरएफ चला रही रेस्क्यू आपरेशन

0
127
विकासनगर, बीती देर शाम विकासनगर बाजार से लाखामंडल के लावड़ी गांव जाती यूटिलिटी हथियारी डैम के पास अनियंत्रित होकर यमुना में समाने व आठ लोग लापता होने की आशंका पर मंगलवार को एसडीआरएफ व पुलिस ने रेस्क्यू अभियान चलाकर यमुना से तीन शव निकाले। अभी एसडीआरएफ का सर्च अभियान जारी है। घटनास्थल पर ग्रामीणों की भारी भीड़ लगी रही। ग्रामीण यमुना में डूबकर लापता लोगों को तलाशने में एसडीआरएफ की मदद कर रहे हैं।

 सुशांत-श्रद्धा की फ़िल्म को मिला धमाकेदार ओपनिंग वीकेंड

जानकारी के मुताबिक, विकासनगर बाजार से सामान लेकर जौनसार के सुदूरवर्ती लाखामंडल क्षेत्र के लावड़ी गांव जा रही यूटिलिटी विकासनगर-बाड़वाला-जुड्डो मार्ग पर हथियारी डैम के पास अनियंत्रित होकर करीब 300 मीटर नीचे यमुना नदी में समा गई। इस दौरान चालक लावड़ी निवासी प्रवेश पंवार वाहन से बीच में ही छिटक कर गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे नजदीकी राजकीय अस्पताल सीएचसी विकासनगर पहुंचाया गया, जहां चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद हालत नाजुक होने पर उसे हायर सेंटर देहरादून के लिए रेफर कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल से तीन मोबाइल फोन व अन्य सामान बरामद किया है।

पुलिस क्षेत्राधिकारी विकासनगर भूपेंद्र सिंह धोनी ने लापता चार लोगों की पुष्टि की

पुलिस क्षेत्राधिकारी विकासनगर भूपेंद्र सिंह धोनी ने लापता चार लोगों की पुष्टि की है, जबकि घटनास्थल पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शी वाहन में नौ लोगों के सवार होने की बात कह रहे हैं। धोनी ने बताया कि अंधेरा होने की वजह से पुलिस-प्रशासन व एसडीआरएफ टीम को सर्च अभियान में सफलता नहीं मिल सकी।

मंगलवार सुबह एसडीआरएफ व कोतवाली पुलिस ने रेस्क्यू शुरू

मंगलवार सुबह एसडीआरएफ व कोतवाली पुलिस ने रेस्क्यू शुरू किया। यमुना का बहाव तेज होने के बाद रेस्क्यू चलाने में दिक्कत आ रही है। टीम अभी तक लाखीराम (28) पुत्र रुडिया निवासी बणगांव कैंपटी, साइना (32 वर्ष) पत्नी गेंदा निवासी घण्ता तहसील चकराता, विक्की (22 वर्ष) पुत्र जगालू निवासी लावड़ी लाखामंडल के शव बरामद कर चुकी है। बाकी शवों को निकालने के लिए रेस्क्यू जारी है।

सोनभद्र में जिस भूमि के लिए हुआ था नरसंहार उसमें से 1135 बीघा भूमि बंजर घोषित

LEAVE A REPLY

%d bloggers like this:
Bitnami