चिकित्सालय का भवन निर्माण अन्यत्र किए जाने के विरोध में ग्रामीणों लगाया जाम

0
459

धौलछीना में ग्रामीणों ने एलोपैथिक चिकित्सालय कनारीछीना के भवन का निर्माण अन्य स्थान पर किए जाने के विरोध में मोर्चा खोल दिया है। इसके विरोध में गुरुवार को ग्रामीणों का धैर्य जवाब दे गया। उन्होंने बाड़ेछीना-सेराघाट मोटरमार्ग के कनारीछीना में हाथों में लाठी-डंडे लेकर करीब साढ़े पांच घंटे चक्का जाम कर उग्र प्रदर्शन किया। साथ ही कहा कि यदि इस चिकित्सालय का भवन निर्माण अन्यत्र किया गया तो ग्रामीण आर-पार के संघर्ष को बाध्य होंगे।

एंबुलेंस भी फंसी रही जाम में

ग्रामीणों ने गुरुवार को कनारीछीना में एकत्रित होकर उक्त मोटरमार्ग में प्रातः नौ बजे से दोपहर तीन बजे तक जाम लगा दिया, जिसके चलते मार्ग के दोनों ओर वाहनों की कतार लग गई। वहीं अति आवश्यकीय सेवा 108 सहित बरेली से बेरीनाग को जा रही एंबुलेंस भी जाम में फंसी रही। वहीं आंदोलित लोगों के साथ जाम में फंसे यात्रियों की तीखी झड़प भी हुई।

वहीं राजस्व पुलिस के कार्यबहिष्कार के चलते जिला मुख्यालय से आनन -फानन में जिला प्रशासन ने तहसीलदार खुश्बू आर्या को मौके पर भेजा। वहीं आंदोलित ग्रामीणों ने तहसीलदार पर अपना गुबार निकाला, उनका कहना था कि जिला प्रशासन को कई बार लिखित रूप से अवगत करा दिए जाने के बाद भी जबरन अन्यत्र जगह चिकित्सालय भवन का निर्माण कराया जा रहा था। जिसके चलते प्रशासन ने ग्रामीणों की बात नहीं सुनी। मजबूर होकर ग्रामीणों को आंदोलन का रूख अख्तियार करना पड़ा है।

काफी बहस के बाद तहसीलदार खुशबू आर्या और स्वास्थ्य विभाग अधिकारियों के आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने जाम खोल दिया। धरना-प्रदर्शन में लक्ष्मण सिंह रावल, चंदन सिंह बिष्ट, कृष्णा रावल, भगवान सिंह रावल, चंदन सिंह रावल, मंगल सिंह रावत, राजेश सिंह बिष्ट सहित आसपास के क्षेत्रों के अनेक पुरूष व महिलाएं मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY