सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी

0
276

देहरादून: उत्तराखंड सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत रावत कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। उन्होंने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बताया कि उन्हें कोरोना के लक्षण नहीं हैं लेकिन डॉक्टर की सलाह पर वह होम आइसोलेशन में रहेंगे। इससे पहले भी उत्तराखंड सरकार के कई मंत्री कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। हाल ही में राज्यमंत्री रेखा आर्य अपने पूरे परिवार समेत कोरोना पॉजिटिव पाई गई थीं।

हाथरस मामले में आरोपियों के खिलाफ एससी/एसटी ऐक्ट के तहत भी मामला दर्ज

अब शुक्रवार को मुख्यमंत्री भी कोरोना की चपेट में आ गए हैं। उन्होंने अपने व्यक्तिगत ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया, ‘मैंने कोरोना टेस्ट करवाया था और रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मेरी तबीयत ठीक है और सिंप्टम्स भी नहीं हैं, इसलिए डॉक्टरों की सलाह पर होम आइसोलेशन में रहूंगा।’ उन्होंने आगे कहा कि विगत दिनों में जो कोई भी उनके संपर्क में आया हो, वह अपने आपको आइसोलेट करके कोरोना जांच कराए।

कोरोना के 620 नए मामले

बता दें कि उत्तराखंड में गुरुवार को कोरोना संक्रमण के 620 नए मामले सामने आए, वहीं महामारी के कारण 9 मरीजों की मौत हो गई। ताजा मामलों में से सर्वाधिक 194 देहरादून जिले में सामने आए जबकि नैनीताल में 127, अल्मोड़ा में 48 और हरिद्वार में 36 मामले सामने आए। राज्य की हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक, गुरुवार को 9 मरीजों की मौत होने के बाद अब तक प्रदेश में 1384 मरीज जान गंवा चुके हैं। वहीं गुरुवार को ही राज्य में 676 लोग उपचार के बाद स्वस्थ हो गए। अब तक कुल 76,223 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। ऐक्टिव मरीजों की संख्या 6062 हैं।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, उनकी पत्नी और बड़ी पुत्री कोरोना संक्रमण की जद में आ गए हैं। शुक्रवार को मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर पहले खुद के कोरोना संक्रमित हो जाने की जानकारी साझा की। देर शाम उनकी पत्नी और पुत्री की आरटीपीसआर रिपोर्ट भी पॉजिटिव आ गई। मुख्यमंत्री ने इसकी पुष्टि की है। मुख्यमंत्री परिवार सहित मुख्यमंत्री आवास मे आइसोलेट हो गए हैं। कोविड गाइडलाइन के अनुसार वे अगले कई दिनों तक चिकित्सकों की निगरानी में आइसोलेशन में रहेंगे।

कोरोना जांच पॉजिटिव आने के बाद उनके सभी कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए हैं। अब वह 21 दिसंबर से शुरू हो रहे विधानसभा सत्र में भी शामिल नहीं हो पाएंगे। सूत्रों के मुताबिक, मुख्यमंत्री आवास पर अन्य स्टाफ और सुरक्षा दल में शामिल लोगों के भी सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। मुख्यमंत्री आवास पर रसोई में कार्य करने वाले एक कर्मचारी के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद मुख्यमंत्री ने कोविड जांच कराई थी।

उत्तराखण्ड आपदा प्रबन्धन का मंत्रालय गठित करने वाला पहला राज्य

LEAVE A REPLY