तीसरे शाही स्नान को कुंभनगरी तैयार, एक बार फिर दिखेगा अखाड़ों का वैभव

0
172

हरिद्वार। मेष संक्रांति पर कुंभ का तीसरे शाही स्नान जारी है। अखाड़ों का शाही काफिला अपने-अपने समय में स्नान को हर की पैड़ी घाट पहुंच रहे हैं। सबसे पहले श्री पंचायती अखाड़ा निरंजनी और उसके सहयोगी अखाड़ों ने आस्था की डुबकी लगाई। इसके बाद अब जूना अखाड़ा भी शाही स्नान को पहुंचे। इस दौरान अखाड़ों का वैभव देखते ही बन रहा है। वहीं, ज्योतिष और शारदा पीठ के पीठाधीश्वर शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने नीलधारा गंगा तट पर शाही स्नान किया। इधर, 12 बजे तक 8.87 लाख श्रद्धालुओं ने गंगा में डुबकी लगाई।

तीरथ सिंह रावत ने डॉ. भीमराव आंबेडकर को याद कर दी श्रद्धांजलि

मेलाधिष्ठान के अनुसार

बता दें कि अखाड़ों के स्नान के दौरान हर की पैड़ी पर आम श्रद्धालुओं का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। उन्हें अन्य घाटों पर स्नान करना होगा। शाही स्नान में सभी 13 अखाड़े भाग ले रहे हैं। मेलाधिष्ठान के अनुसार स्नान सुबह साढ़े आठ बजे से शुरू हुआ, जो शाम साढ़े पांच बजे तक चलेगा।

LIVE Haridwar Kumbh Mela 2021

आठ बाजे पूरी तरह खाली हो जाएंगे हर की पैड़ी समेत आसपास के तमाम घाट। कुछ श्रद्धालु बिना नहाए मायूस वापस लौटे।

मेष संक्रांति स्नान को हर की पैड़ी पर उड़े श्रद्धालु। सात बजे के बाद यहां आम श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक। मध्यरात्रि के बाद से ही पहुंचने लगे थे हर की पैड़ी।

शास्त्रों के अनुसार मेष संक्रांति पर अमृत योग में होने वाले इस शाही स्नान को कुंभ का मुख्य स्नान माना गया है। मेलाधिकारी दीपक रावत ने बताया कि शाही स्नान के लिए हरकी पैड़ी को अखाड़ों के लिए आरक्षित रखा गया है। उन्होंने बताया कि श्रद्धालु शाम को गंगा आरती के बाद हरकी पैड़ी पर स्नान कर सकते हैं। सुबह श्रद्धालु कितने बजे तक स्नान कर सकेंगे, इस बारे में भीड़ को देखकर ही फैसला लिया जाएगा।

कुंभ मेले में तार-तार हुए Covid 19 के नियम

LEAVE A REPLY