उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र रावत Delhi AIIMS शिफ्ट

0
473

देहरादून। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत बेहतर उपचार के लिए दिल्ली एम्स (Delhi AIIMS) शिफ्ट किया गया है। सीएम के मीडिया समन्वयक दर्शन सिंह रावत ने इसकी पुष्टि की है। रावत के मुताबिक डॉक्टरों की सलाह पर जांच के लिए सीएम रावत को दिल्ली ले जाया गया। आपको बता दें कि दस दिन पहले सीएम की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई।उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को बेहतर उपचार के लिए दिल्ली एम्स शिफ्ट किया जा रहा है। मुख्यमंत्री के मीडिया समन्वयक दर्शन सिंह रावत ने इसकी पुष्टि की है। रावत के मुताबिक डॉक्टरों की सलाह पर जांच के लिए सीएम रावत को दिल्ली ले जाया जा रहा है

पीएम मोदी ने किया एलान,2025 तक 25 से ज्यादा शहरों में मेट्रो सेवा

परीक्षण के लिये मुख्यमंत्री एम्स शिफ्ट

उत्तराखंड मुख्यमंत्री के फिजिशियन डॉ. एनएस बिष्ट के मुताबिक मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का स्वास्थ्य ठीक है। उन्हें रात में बुखार आया था, जिसमें अब कमी भी आई है। उनके फेफड़ों में हल्का संक्रमण है। एम्स दिल्ली के चिकित्सकों से परामर्श किया गया। उनकी सलाह पर जरूरी परीक्षण के लिये मुख्यमंत्री एम्स शिफ्ट किया गया।

गौरतलब है कि 18 दिसंबर को उत्तराखंड मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी। उनकी पत्नी और बेटी की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई। तभी से वह होम आइसोलेशन में थे। शनिवार से उन्हें हल्का बुखार था। इसपर रविवार को दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में उनकी खून की जांच और सीटी स्कैन हुआ। इस दौरान फेफड़ों में हल्का इंफेक्शन पाया गया, जिसके बाद चिकित्सकों ने उन्हें भर्ती होने की सलाह दी थी।

वहीं, कल खबर सामने आई थी कि कोरोना वायरस से संक्रमित मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को दून अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वह फिलहाल बुखार और फेफड़ों में संक्रमण से जूझ रहे हैं. जबकि दून अस्‍पताल के डॉक्टरों की टीम ने उनका उपचार शुरू कर दिया है. मुख्यमंत्री रावत अपनी पत्‍नी और बेटी के साथ 18 दिसंबर को कोरोना संक्रमित पाये गये थे.

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाने की जिम्मेदारी प्रशासन को सौंपी गई है

बता दें कि मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर खुद के कोरोना संक्रमित हो जाने की जानकारी साझा की थी. जबकि उसी दिन देर शाम उनकी पत्नी और पुत्री की आरटीपीसआर रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई थी. वहीं, राज्य सरकार का फिलहाल पूरा फोकस कोरोना के संक्रमण की रोकथाम पर है, ताकि प्रदेश में कोरोना की वजह से हालात बेकाबू ना हों. इसी के मद्देनजर नई गाइडलाइन में सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनने पर खास फोकस किया गया है. जबकि सार्वजनिक जगहों पर अब लोगों के लिए मास्क पहनना जरूरी होगा. इसके अलावा भीड़ भाड़ वाली जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाने की जिम्मेदारी प्रशासन को सौंपी गई है.

सभी संक्रमितों को आइसोलेट कर दिया गया

इसी बीच खबर है कि ब्रिटेन में कोरोना के म्यूटेशन की खबर के बाद 15 दिसंबर को उत्तराखंड में यूके से 5 लोग आए जोकि कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इसके अलावा उनके सम्पर्क में आया एक और व्यक्ति का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया है. मामले में राज्य कोविड कंट्रोल रूम के नोडल अफसर जेसी पांडे ने बताया कि सभी संक्रमितों को आइसोलेट कर दिया गया है.

ई-ऑफिस परियोजना के सुगम एक्सेस हेतु 01 करोड़ की स्वीकृति

LEAVE A REPLY