उत्तराखंड सडकों पर …. महंगाई के विरोध के लिए निकाला मशाल जुलूस

0
452

देहरादून। उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम ंिसंह के नेतृत्व में पेट्रोलियम पदार्थों की बढ़ती कीमतों एवं बढ़ती महंगाई के विरोध में मशाल जुलूस निकाला। कांग्रेस मुख्यालया में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रीतम सिंह ने देश में बेकाबू होती पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों के लिए केन्द्र की मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए केन्द्र सरकार पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने कहा कि पिछले चार वर्षों में दुनियाभर में कच्चे तेल की कीमत अपने न्यूनतम स्तर पर रही किन्तु पूरे चार वर्ष केन्द्र की मोदी सरकार ने देश की जनता को कभी पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस की कीमतों को कम कर राहत देने का काम नहीं किया। उन्होंने कहा यूपीए सरकार के समय में 129 डॉलर प्रति बैरल कच्चे तेल के मुकाबले एनडीए सरकार के समय कच्चे तेल की कीमत 34 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंची किन्तु बाजार में डीजल, पेट्रोल की कीमतें कभी कम नहीं हुई और केन्द्र सरकार ने चार वर्श में लोगों की जेब पर डकैती डालकर तेल सेक्टर में 9 लाख करोड़ रूपये कमाने का काम किया। प्रीतम सिंह ने कहा यूपीए सरकार के समय में जो गैस का सिलेंडर 377 रूपये में उपभोक्ता तक पहुंचता था वह आज 800 रूपये का हो गया है। उन्होंने कहा कि पेट्रोल, डीजल की कीमतें बढ़ने से आम उपभोग की वस्तुओ ंकी कीमतें भी आसमान छू रही हैं। कार्यक्रम का संचालन करते हुए वरिष्ठ उपाध्यक्ष सूर्यकान्त धस्माना ने कहा कि उत्तराखण्ड में डबल इंजन की सरकार पूरी तरह से फेल हो चुकी है। राज्य में सरकार नाम की कोई चीज दिखाई नहीं पड़ रही है। पूरे प्रदेश के अन्दर वर्तमान में जहां जनता केन्द्र सरकार की नीतियों के कारण बढ़ रही महंगाई से त्रस्त है। धस्माना ने कहा राजधानी देहरादून सहित सभी पर्वतीय इलाकों में पीने के पानी का गंभीर संकट बना हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष के नेतृत्व में कांग्रेसी पूरे प्रदेश में सड़कों पर उतरकर राज्य व केन्द्र की जन विरोधी सरकारों का विरोध करेंगे। सभा के बाद कांग्रेसी हाथों में मशाल लेकर बड़ी संख्या में केन्द्र व राज्य सरकार विरोधी व महंगाई विरोधी नारे लगाते हुए कांग्रेस मुख्यालय से एस्लेहॉल, गांधी पार्क होते हुए घंटाघर पहुंचे जहां कुछ देर रूककर जोरदार नारेबाजी की। राजपुर रोड़ होते हुए कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे।

मशाल जुलूस में रहे शामिल

नेता प्रतिपक्ष डॉ इंदिरा हृदयेश, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय, विधायक काजी निजामुद्दीन, आदेश चौहान, पूर्व मंत्री दिनेश अग्रवाल, हीरा सिंह बिष्ट, मातवर सिंह कंडारी, राजेन्द्र सिंह भंडारी, शंकर चन्द रमोला, डा संजय पालीवाल, महामंत्री विजय सारस्वत, नवीन जोशी, गोदावरी थापली, धीरेन्द्र प्रताप, राजपाल बिष्ट, याकूब सिद्धिकी, पूर्व विधायक विक्रम सिंह नेगी, पूर्व विधायक राजकुमार, डॉ जीतराम, पृथ्वीराज चौहान, लालचन्द शर्मा, राजेन्द्र शाह, अजय ंिसह, जयपाल जाटव, शिल्पी अरोड़ा, सुरेन्द्र रांगड़, आनंद रावत, प्रमोद कुमार सिह, प्रवक्ता डॉ आर.पी. रतूड़ी, गरिमा दसौनी, प्रदीप भट्ट, प्रभुलाल बहुगुणा, जिलाध्यक्ष जयेन्द्र रमोला, यामीन अंसारी, महन्त विनय सारस्वत, भरत शर्मा, राजेश पांडे, भुवन कापडी, गिरीष पुनेड़ा, राजेश शर्मा, मोहन भंडारी, राजेश चमोली, मनमोहन मल्ल, महावीर रावत, आजाद अली, संजय भट्ट, देवेंद्र सती, अशोक वर्मा, एस.पी. सिंह, अजय नेगी, सतीष ढौंडियाल, नीनू सहगल, दीवान सिंह तोमर, आनन्द बहुगुणा, मनोज जैन, दीप बोहरा, धर्म सिंह पंवार, प्रणीता बडोनी, शांति रावत, नवीन पयाल, संजय किशोर, दर्शन लाल, कैप्टन बलवीर सिंह रावत, अमरजीत सिंह, देवेन्द्र बुटोला, ताहिर अली, जिला पंचायत सदस्य मेघ सिंह, रमेष चन्द, अभिनव थापर, आषा टम्टा, प्रदीप जोषी, महेष जोषी, सुनील जायसवाल, सुनित राठौर, टीटू त्यागी, अषोक कोहली, जगदीष धीमान, कमलेष रमन, चन्द्रकला नेगी, पुश्पा पंवार, अनुराधा तिवारी, संग्राम पुण्डीर, कंचन रांगड़, पंकज मेसोन, संजय षर्मा, सुनित राठौर, ष्याम सिंह चौहान, विषाल मौर्य, प्रमुख सुरेन्द्र रावत, गोपाल दादर, अरूण षर्मा, डॉ0 विजेन्द्र पाल, अनूप कपूर,, सुमित्रा ध्यानी, अष्वनी बहुगुणा, नवीन रमोला, दिनेष कौषल, नेमचन्द, सुधीर सुनेहरा, मनीष नागपाल, धर्म सिंह पंवार, मंजू त्रिपाठी, नागेष रतूड़ी, बाला षर्मा, पूनम कण्डारी, मोहन काला, हरविन्दर सिंह रतन, मालती देवी, राजीव केषवाल, अनिल गुप्ता, षोभा राम, बसन्त पन्त, भगत सिंह चौहान, आसीम देसाई, सोनू, राजवीर खत्री, रामविलास रावत, लाखीराम बिजलवाण आदि।]]>