उत्तराखंड के कुमाऊं क्षेत्र में विकसित होगा हैरिटेज सर्किट, बढेंगी पर्यटन सुविधाएं

0
1441

रिपोर्ट … page3news.co.in
नई दिल्ली। उत्तराखंड सरकार के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने उत्तराखण्ड सदन, नई दिल्ली में प्रेसवार्ता की। महाराज ने बताया कि पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार के सहयोग से स्वदेश दर्शन एवं प्रसाद योजना के अन्तर्गत प्रदेश में अवस्थापना सुविधायें विकसित की जा रही हैं। स्वदेश दर्शन योजना के अन्तर्गत आधारभूत अवस्थापना सुविधाओं के विकास के लिए कुुमाऊं क्षेत्र में कटारमल-जागेश्वर-बैजनाथ-देवीधूरा हैरिटेज सर्किट के लिए 2095.60 लाख (बीस करोड़ पच्चानवे लाख साठ हजार) अवमुक्त किये गये हैं।
महाराज ने बताया कि राज्य में हैरिटेज सर्किट के तहत इन स्थलों को विकसित कर पर्यटकों के लिए सुविधायें बढ़ाई जायेंगी। इसी तरह प्रसाद योजना के अन्तर्गत केदारनाथ धाम के विकास के लिए 5 करोड़ की धनराशि अवमुक्त की गई है।
पर्यटन मंत्री ने स्पष्ट किया कि चारधाम यात्रा मार्ग में गढ़वाल मण्डल विकास निगम लि. के पर्यटक आवास गृहों में मांसाहारी भोजन पूर्णतया प्रतिबंधित है। कुछ व्यक्तियों द्वारा सोशल मीडिया में यह अफवाह फैलाई जा रही है कि चारधाम यात्रा मार्ग में मांसाहारी भोजन परोसा जा रहा है। यह अफवाह बेबुनियाद एवं निराधार है। महाराज ने कहा उत्तराखण्ड में देश-विदेशों से पर्यटक, यात्री एवं श्रद्धालुओं का आवागमन में वृद्धि हुई है। सुचारू रूप से चल रही चारधाम यात्रा में इस वर्ष 4 जुलाई, 2018 तक आये श्रद्धालुओं की संख्या 21, 82, 108 है। महाराज ने आशा व्यक्त की कि भविष्य में श्रद्धालुओं की संख्या में निश्चित रूप से बढ़ोŸारी होगी।
पर्यटन मंत्री बोले

‘मैं पर्यटन मंत्री, भारत सरकार एवं उनके मंत्रालय का आभारी हूं कि उनके द्वारा उत्तराखण्ड में पर्यटन विकास के लिए विशेष प्रयास कर विŸाीय सहायता प्रदान की गई है। प्रदेश सरकार विश्व के पर्यटन मानचि़त्र में उत्तराखण्ड को एक अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के पर्यटन आकर्षण के रूप में प्रतिस्थापित करने एवं पर्यटन की असीम सम्भावनाओं को विकसित करने के लिए प्रतिबद्ध है।’
सतपाल महाराज, पर्यटन मंत्री, उत्तराखंड