राजकीय पेंशनरों ने सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा,  गांधी पार्क में दिया धरना 

0
206

अल्मोड़ा : सेवानिवृत्त कर्मचारियों के गोल्डन कार्ड बनाए जाने के एवज में सेवारत कर्मचारियों के बराबर धनराशि कटौती किए जाने का विरोध करते हुए गवर्नमेंट पेंशनर्स वेलफेयर आर्गनाइजेशन ने चौघानपाटा गांधी पार्क में धरना दिया। वही जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा।इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि सरकार की ओर से सेवारत व सेवानिवृत्त कर्मचारियों के गोल्डन कार्ड बनाए जा रहे है। कार्ड बनाने के लिए सेवारत व सेवानिवृत्त कर्मचारियों के लिए  एक ही धनराशि नियत की गई है। जो न्याय संगत नहीं है। कहा कि सेवारत कर्मचारियों को प्राप्त वेतन की अपेक्षा पेंशनर्स को वेतन के 50 प्रतिशत एवं पारिवारिक पेंशनर्स को  30 प्रतिशत धनराशि पेंशन के रूप में मिलती है। इसके साथ ही सेवानिवृत्त कर्मचारियों के ओपीडी में किए गए उपचार की राशि का भुगतान कैशलेस न होकर उपचार व्यय की प्रतिपूर्ति चिकित्सालय द्वारा प्रतिहस्ताक्षरित करने के उपरांत भुगतान किए जाने की व्यवस्था की गई है। इस व्यवस्था में अनेक विसंगतियां हैं। वक्ताओं ने इस स्वास्थ्य योजना में सुधार किए जाने की मांग की है।

धरने में संगठन के प्रांतीय कार्यकारिणी सदस्य चंद्रमणी भट्ट, श्याम रावत, भैरव दत्त उपाध्याय, जिलाध्यक्ष गिरीश तिवारी, सचिव प्रताप सिंह सत्याल, गोकुल सिंह रावत, मथुरा दत्त मिश्रा, यशवंत सिंह परिहार, भगीरथ पांडे, प्रताप बिष्ट, चंद्रशेखर बनकोटी, नारायण बिष्ट, पूरन सिंह मेहरा, बहादुर राम, प्रताप गिरि गोस्वामी, मोहन सिंह नयाल, डीएस डोभाल, कुंदन सिंह बिरोडि़या मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY