पश्चिम बंगाल और असम समेत पांच राज्यों में चुनाव का एलान

0
380

नई दिल्ली। चुनाव आयोग (Election Commission of India) आज यानी शुक्रवार को शाम 4.30 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाला है। इस दौरान पश्चिम बंगाल और असम समेत पांच राज्यों में चुनाव का एलान हो सकता है। बता दें कि पश्चिम बंगाल,असम के अलावा केरल, तमिलनाडु और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव होने हैं। तारीखों का एलान होते ही इन राज्यों में आदर्श आचार संहिता लागू हो जाएगी। पिछले दिनों इसे लेकर चुनाव आयोग ने बैठक भी की थी।

मुख्यमंत्री ने अल्मोड़ा जनपद में किया विकास योजनाओं का लोकार्पण

इस बैठक में आगामी चुनावों की तैयारियों को अंतिम रूप देने को लेकर चर्चा हुई थी। बता दें कि कोरोना महामारी के बीच पहली बार इतने राज्यों में एक साथ चुनाव होगा। इसके चलते राज्यों में मतदान केंद्रों की संख्या बढ़ाई जा सकती है। पिछले साल अक्टूबर-नवंबर में बिहार में विधानसभा चुनाव हुए थे। इसी के तर्ज पर इन राज्यों में भी चुनाव हो सकते हैं। यहां शारीरिक दूरी समेत कोरोना संबंधी अन्य नियमों का पालन करते हुए चुनाव हुए थे। चार राज्यों की विधानसभाओं का कार्यकाल मई- जून में समाप्त हो रहा है। वहीं पुडुचेरी में राष्ट्रपति शासन लागू है। यहां वी नारायणसामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने सोमवार को विश्वास मत से पहले इस्तीफा दे दिया था। पार्टी के कई विधायकों के इस्तीफा देने के बाद सरकार अल्पमत में आ गई थी।

किन राज्यों में होने हैं चुनाव?

पश्चिम बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडु और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी। चुनाव का एलान होते ही इन राज्यों में आदर्श आचार संहिता लागू हो जाएगी।

पश्चिम बंगाल (West Bengal Assembly Election)

पश्चिम बंगाल में विधानसभा की 294 सीटें हैं। यहां ममता बनर्जी की नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस (TMC) की सरकार है। पिछले चुनाव में टीमसी को सबसे ज्यादा 211, कांग्रेस को 44, लेफ्ट को 26 और भाजपा को तीन सीटों पर जीत मिली थी। 30 मई 2021 विधानसभा का कार्यकाल खत्म हो रहा। पूरी खबर पढ़ें

असम (Assam Assembly Election)

असम में विधानसभा की 126 सीटें हैं। बहुमत के लिए 64 सीटों की जरूरत है। वर्तमान में यहां भाजपा की अगुआई में एनडीए की सरकार है। सर्वानंद सोनोवाल यहां के मुख्यमंत्री हैं। पिछले चुनाव में भाजपा 89 सीटों पर चुनाव लड़ी थी। 60 में उसे जीत मिली थी। असम गण परिषद 30 में से 14 में जीत दर्ज की थी। बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट ने 13 में से 12 सीटों पर जीत दर्ज की थी। कांग्रेस 122 सीटों पर चुनाव लड़ी थी और महज 26 सीटों पर सिमट गई थी। 31 मई को कार्यकाल खत्म हो रहा।

केरल (Kerala Assembly Election)

केरल में 140 विधानसभा सीटें हैं। फिलहाल यहां पिनाराई विजयन की अगुआई वाली लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (एलडीएफ) की सरकार है। पिछले चुनाव में यहां एलडीएफ को 91, कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (यूडीएफ) को 47 सीटें मिली थीं। एक जून को विधानसभा का कार्यकाल खत्म हो रहा।

तमिलनाडु (Tamil Nadu Assembly Election)

तमिलनाडु में 234 विधानसभा सीटें हैं। वर्तमान में यहां इ पलानीस्वामी की अगुआई ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कणगम (AIADMK) की सरकार है। भाजपा का उसके साथ गठबंधन है। पिछले चुनाव में एआइएडीएमके को 136 और मुख्य विपक्षी पार्टी डीएमके को 89 सीटों पर जीत मिली थी। 31 मई 2021 को विधानसभा का कार्यकाल खत्म हो रहा।

पुडुचेरी (Puducherry Assembly Election)

पुडुचेरी में 30 विधानसभा सीटें हैं। यहां राष्ट्रपति शासन लागू है। पिछले दिनों कांग्रेस-डीएमके गठबंधन वाली सरकार गिर गई थी। वी नारायणसामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने सोमवार को विश्वास मत से पहले इस्तीफा दे दिया था। पार्टी के कई विधायकों के इस्तीफा देने के बाद सरकार अल्पमत में आ गई थी। पिछले चुनाव में कांग्रेस को 21 में से 15 सीटें मिली थीं। बहुमत के लिए 16 सीटों की जरूरत।

कृषि कानून वापस न लिए जाने पर राकेश टिकैत ने किया बड़ा ऐलान

LEAVE A REPLY