World ozone day: पर विश्वविद्यालय व 127 इन्फेन्टरी बटलियन द्वारा संयुक्त आयोजन

0
79

            विश्व ओजोन दिवस के अवसर पर वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोेेजन

देहरादून: उत्तरांचल विश्वविद्यालय की विधि संकाय लॉ कॉलेज देहरादून व गढ़वाल राइफल की 127 इन्फेन्टरी बटालियन के संयुक्त संयोजन में विश्व ओजोन दिवस (World ozone day) के अवसर पर एक वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। मिलिटरी अस्पताल देहरादून के कमान्डेन्ट ब्रिगेडियर मोहन सिंह बिष्ट इस अवसर पर मुरव्य अतिथि थे जबकि 127 इन्फेन्टरी बटालियन के कमान्डिंग अफसर कर्नल रोहित श्रीवास्तव व उत्तरांचल विश्वविद्यालय के निदेशक डा0 अभिषेक जोशी बतौर विशिष्ट अतिथि थे। प्रतियोगिता के अन्तिम राउण्ड में 10 प्रतिभागियों ने भागीदारी की। विषय था विकसित और विकासशील देशो के बीच विकास की होड़ ओजोन परत के हा्रस के लिए जिम्मेदारी है। इस अवसर पर श्री कुमारआशुतोष,डा0 शिखा उनियाल गैरोला एवं स्मृति उनियाल बतौर निर्णायक उपस्थित थे।

Industrial In Uttarakhand: उत्‍तराखंड के उद्यमी बनें उत्तराखंड सरकार के ब्रांड एंबेसडर

वाद- विवाद का शुभाम्भ बड़े ही रोचक ढंग से हुआा। धीरे-धीरे श्रोतागण तर्को के प्रवाह में बहते चले गये। विषय के पक्ष में बोलते हुए प्रतिभागियों ने विकसित एंव विकसशील देशों के विकास को सभ्यता की जरूरत बताते हुए अभी हाल फिलहाल में ओजोत परत के फिर से भरने का हवाला दिया और अपने विरोधियों के तर्क साक्ष्य के आधार पर गलत ठहराने की कोशिश की। कडे मुकाबलेें के बाद निर्णाय मण्डल द्वारा शताक्षी शर्मा को सर्वश्रेष्ठ वक्ता (हिन्दी)एंव पार्थ नारायण सिंह को द्धतीय   विश्व ओजोन दिवस पर विश्वविद्यालय व 127 इन्फेन्टरी बटलियन द्वारा संयुक्त आयोजन।विश्व ओजोन दिवस के अवसर पर वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोेेजन उत्तरांचल विश्वविद्यालय की विधि संकाय लॉ कॉलेज देहरादून व गढ़वाल राइफल की 127 इन्फेन्टरी बटालियन के संयुक्त संयोजन में विश्व ओजोन दिवस के अवसर पर एक वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। मिलिटरी अस्पताल देहरादून के कमान्डेन्ट ब्रिगेडियर मोहन सिंह बिष्ट इस अवसर पर मुरव्य अतिथि थे जबकि 127 इन्फेन्टरीबटालियन के कमान्डिंग अफसर कर्नल रोहित श्रीवास्तव व उत्तरांचल विश्वविद्यालय के निदेशक डा0 अभिषेक जोशी बतौर विशिष्ट अतिथि थे। प्रतियोगिता के अन्तिम राउण्ड में 10 प्रतिभागियों ने भागीदारी की। विषय था विकसित और

विकासशील देशो के बीच विकास की होड़ ओजोन परत के हा्रस के लिए जिम्मेदारी है। इस अवसर पर श्री कुमारआशुतोष,डा0 शिखा उनियाल गैरोला एवं स्मृति उनियाल बतौर निर्णायक उपस्थित थे।वाद- विवाद का शुभाम्भ बड़े ही रोचक ढंग से हुआा। धीरे-धीरे श्रोतागण तर्को के प्रवाह में बहते चले गये। विषय के पक्ष में बोलते हुए प्रतिभागियों ने विकसित एंव विकसशील देशों के विकास को सभ्यता की जरूरत बताते हुए अभी हाल फिलहाल में ओजोत परत के फिर से भरने का हवाला दिया और अपने विरोधियों के तर्क साक्ष्य के आधार परगलत ठहराने की कोशिश की।

कडे मुकाबलेें के बाद निर्णाय मण्डल द्वारा शताक्षी शर्मा को सर्वश्रेष्ठ वक्ता (हिन्दी)एंव पार्थ नारायण सिंह को
िद्धतीय सर्वश्रेष्ठ वक्ता घोषित किया वही स्पर्श त्रिपाठी सर्वश्रेष्ठ वक्ता (अंग्रेजी) एंव स्वपनिल श्रीवास्तव द्धितीय सर्वश्रेष्ठ वक्ता घोषित किये गये। लॉ कॉलेज देहरादून के डीन डा0 राजेश बहुगुणा ने बताया कि पर्यावरण सुरक्षा जागरूकता व तत्सम्बन्ध शौध को लेकर लॉ कॉलेज देहरादून व 127 इन्फेन्टरी बटालिया के बीच आपसी सहयोग से कार्य करने का प्रस्ताव है। विदित हो कि गढ़वाल राइफल की यह बटालियन उत्तराखण्ड व विशेषकर मसूरी के पहाड़ो को पुनः हराभरा करने के लिए चर्चा में रही है। उन्होने कहा कि विधि के छात्रों का ज्ञान व सेना के जवानों की ऊर्जा का अनूठा समायोजन होगा जो पर्यावरण संरक्षा के क्षेत्र में क्रान्तिकारी परिवर्तन लायेगा। इस अवसर पर मुरव्य रूप से कमान्डेन्ट ब्रिगेडियर मोहन सिंह विष्ट कमान्डिंग अफसर कर्नल रोहित श्रीवास्तव डा0 अभिषेक जोशी, डीन डा0 राजेश बहुगुणा, डा0 पूनम रावत, कुमार आशुतोष अमित चौधरी,डा0 शिखा उनियाला गैरोला, स्मृति उनियाल सहित बड़ी संरव्या में शिक्षकगण व छात्र-छात्राएं उपस्थित थे। सर्वश्रेष्ठ वक्ता घोषित किया वही स्पर्श त्रिपाठी सर्वश्रेष्ठ वक्ता (अंग्रेजी) एंव स्वपनिल श्रीवास्तव द्धितीय सर्वश्रेष्ठ वक्ता घोषित किये गये।

लॉ कॉलेज देहरादून के डीन डा0 राजेश बहुगुणा ने बताया कि पर्यावरण सुरक्षा जागरूकता व तत्सम्बन्ध शौध को लेकर लॉ कॉलेज देहरादून व 127 इन्फेन्टरी बटालिया के बीच आपसी सहयोग से कार्य करने का प्रस्ताव है। विदित हो कि गढ़वाल राइफल की यह बटालियन उत्तराखण्ड व विशेषकर मसूरी के पहाड़ो को पुनः हराभरा करने के लिए चर्चा में रही है। उन्होने कहा कि विधि के छात्रों का ज्ञान व सेना के जवानों की ऊर्जा का अनूठा समायोजन होगा जो पर्यावरण संरक्षा के क्षेत्र में क्रान्तिकारी परिवर्तन लायेगा।

इस अवसर पर मुरव्य रूप से कमान्डेन्ट ब्रिगेडियर मोहन सिंह विष्ट कमान्डिंग अफसर कर्नल रोहित श्रीवास्तव डा0 अभिषेक जोशी, डीन डा0 राजेश बहुगुणा, डा0 पूनम रावत, कुमार आशुतोष अमित चौधरी,डा0 शिखा उनियाला गैरोला, स्मृति उनियाल सहित बड़ी संरव्या में शिक्षकगण व छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

BJP Uttarakhand Election Incharge: दो दिन के उत्तराखंड दौरे पर पहुंचे देहरादून

Leave a Reply