बदहाल स्वास्थ्य सेवा को लेकर मुख्यमंत्री का विरोध करने जा रहे युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पुलिस ने रोका, हुई नोकझोक

559

अल्मोड़ा:- बदहाल स्वास्थ्य सेवा एवं विगत दिनों गर्भवती महिलाओं की मौत के मुद्दे को लेकर अल्मोड़ा में पहुचे मुख्यमंत्री का विरोध करने जा रहे युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता को पुलिस ने रोक दिया। पुलिस द्वारा रोके जाने पर कार्यकर्ताओं की पुलिस के नोकझोक भी हुई। अंत में कार्यकर्ताओं ने सड़क में बैठक कर नारे लगाते हुए कुछ देर धरना भी दिया। माल रोड़ में पशु चिकित्सालय के पास सीएम के काफिले के आने से पूर्व युकां कार्यकर्ताओं के प्रदर्शन की सूचना पर पुलिस ने कालेज के जाने के रास्ते को छावनी में बदल दिया था।

नारे लगाते हुए मुख्यमंत्री का विरोध करने जाते युकां कार्यकर्ता

इस दौरान कार्यकर्ताओं ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग सीएम के पास है लेकिन अस्पतालों की हालत बद से बदतर होती जा रही है। जिला चिकित्सालय में व्यवस्थाए ठीक न होने के कारण गर्भवती महिलाएं दम तोड़ रही हैं। जबकि सीएम स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने के केवल दावे कर रहे हैं। आरोप लगाया कि राज्य सरकार अस्पतालों में चिकित्सकों व संसाधनों का अभाव दूर करने के बजाय घोषणाओं से गुमराह करने में लगी हैं। उन्होंने जल्द स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने की मांग करते हुए मुख्यमंत्री व सरकार के खिलाफ नारे लगाते हुए प्रदर्शन किया।

मुख्यमंत्री का विरोध करने जाते युकां कार्यकर्ताओं को रोकती पुलिस

प्रदर्शन करने वालों में युकां जिलाध्यक्ष निर्मल रावत, प्रधान संगठन के जिलाध्यक्ष धीरेंद्र सिंह गैलाकोटी, नितिन रावत, पूर्व छात्र नेता आशीष पंत, विपुल कार्की, संदीप तड़ागी, अमित बिष्ट, संजीव कर्मियाल, उमेश गुरुरानी आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply