Garhwal Rifles : के दोनों जवानों के पार्थिव शरीर लाए गए जौलीग्रांट एयरपोर्ट

0
188

चमोली। Garhwal Rifles :  जम्मू के पूंछ जिले के नाढ़खास में आतंकवादियों से हुई मुठभेड़ में शहीद हुए 17 गढ़वाल राइफल के दो जवान टिहरी गढ़वाल के राइफलमैन विक्रम सिंह नेगी और चमोली के राइफलमैन योगंबर सिंह का पार्थिव शरीर आज शनिवार जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर लाए गए।

‘PAHAL 2021’ session: का सीएम धामी ने किया शुभारंभ

शहीदों के पार्थिव शरीर को जौली ग्रांट एयरपोर्ट पर दी श्रद्धांजलि

जम्मू के पुंछ में हुई मुठभेड़ में उत्तराखंड के शहीद हुए दो जवानों 17 गढ़वाल राइफल के वीर सपूत विक्रम सिंह नेगी (26 वर्ष) निवासी विमाण गांव टिहरी और योगम्बर सिंह ( 27 वर्ष) ग्राम सांकरी चमोली के पार्थिव शरीर आज वायुसेना के विशेष विमान से जम्मू कश्मीर से जौलीग्रांट एयरपोर्ट लाए गए। एयरपोर्ट पर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी। राज्य सरकार की ओर से उत्तराखंड सरकार के सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने एयरपोर्ट पर पहुंचकर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। जिसके बाद सेना के वाहन से शहीदों के पार्थिव शरीर को उनके घरों के लिए ले जाया गया। इस दौरान सेना के अधिकारी डोईवाला प्रशासन की ओर से उप जिलाधिकारी डोईवाला यूक्ता मिश्र, तहसीलदार सुशील सैनी, कोतवाल राजेंद्र सिंह रावत ने भी शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। जिसके बाद दोनों शहीदों के पार्थिव शरीर को उनके घरों के लिए ले जाया गया।

Garhwal Rifles : 6 वर्षीय राइफलमैन विक्रम सिंह नेगी पुत्र साहब सिंह के शहीद

टिहरी जनपद के नरेंद्रनगर ब्लाक के विमाण गांव निवासी 26 वर्षीय राइफलमैन विक्रम सिंह नेगी पुत्र साहब सिंह के शहीद होने की खबर सुनते ही गांव में कोहराम मच गया। विक्रम पांच साल पहले सेना में भर्ती हुए थे। तीन साल पहले उनकी शादी हुई थी। उनका एक डेढ़ साल का बेटा भी है। शहीद के माता-पिता और पत्नी गांव में ही रहते हैं। विक्रम अपने घर का इकलौता बेटा था। विक्रम इसी साल जुलाई में गांव आए थे और डेढ़ महीने की छुट्टी बिता कर गए थे। 22 अक्टूबर को विक्रम को फिर घर आना था।

वहीं, चमोली जिले के ग्राम सांकरी निवासी 26 वर्षीय राइफलमैन योगंबर सिंह के शहीद होने की सूचना फोन पर मिलने के बाद से गांव में मातम छाया है। शहीद के पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शनों के लिए गांव में लोग पहुंचे हैं। शहीद का पार्थिव शरीर के घर पहुंचने पर अंतिम संस्कार उनके पैतृक घाट त्रिवेणी निगोल नदी के तट पर ही किया जाएगा।

37th Raising Day of NSG: एनएसजी कमांडो ने दिखाए हैरतअंगेज करतब

Leave a Reply