मेडिकल इमरजेंसी वालों को ही पुलिस दे रही प्राथमिकता

पुलिस द्वारा अभी तक 21 हज़ार से ज़्यादा वाहनों का एमवी एक्ट के तहत चालान

0
535
 देहरादून-:(अर्जुन सिंह भंडारी)-राजधानी में लगातार पुलिस सुरक्षा के लिहाज़ से सड़कों पर नज़र बनाये हुए है। पुलिस टीम द्वारा सभी बैरिकेडिंग व पिकेटों पर सभी वाहनो की चेकिंग की जा रही है व जरूरी होने पर उनके खिलाफ   चालान व सीज़ जैसे कड़े कदम भी उठाये जा रहे है।
शहर में कोरोना काल के दौर में भी लोगों द्वारा चौपहिया वाहनों में घरों से बाहर निकलने को लेकर प्रशासन पर लगातार दबाव बना हुआ है जिसको चलते कई पुलिस अधिकारियो को खुद सुरक्षा व्यवस्था संभाले हुए देखा जा रहा है।
सीओ राजपुर व डालनवाला विवेक कुमार द्वारा लॉकडाउन 1 से ही  लगातार पुलिस कर्मियों के साथ स्थिति पर नज़र रखी जा रही है। आज भी उनके द्वारा डालनवाला राजपुर क्षेत्र अंतर्गत मार्गों पर पुलिस टीम को अलग अलग नाकों पर सख्त चेकिंग की हिदायत दी। उनके द्वारा खुद आराघर चौराहे पर सीपीयू व अन्य पुलिस कर्मियों को सड़क के दोनो और तैनात किया गया है व किसी भी गैर जरूरी वाहन को न गुज़रने देने की सख्त हिदायत दी है।
इस दौरान उन्होंने कहा कि उनकी पुलिस टीम द्वारा बैरिकेडिंग से गुज़रने वाले हर वाहन को गहनता से चेक किया जा रहा है। ज़्यादातर वाहनों में उनको मेडिकल इमरजेंसी से जुड़े मरीज मिले है जिनमे कई को कमर दर्द, कोई पुरानी बीमारी है या गर्भवती है। पुलिस द्वारा इन सभी के मेडिकल पर्चा देख कर पूरी तस्दीक की जा रही है।
उन्होंने चालना के संबंध में जानकारी देते हुए कहा चेकिंग के दौरान किसी भी गैर जरूरी वाहनों की पहचान होने पर सीपीयू टीम द्वारा गाड़ियों के चालान व गाड़ियां सीज़ की जा रही है।
ज्ञात हो कि उत्तराखंड में पुलिस द्वारा अभी तक 21 हज़ार से ज़्यादा वाहनों का एमवी एक्ट के तहत चालान किया है व 4899 को सीज़ किया जा चुका है।इन सभी से पुलिस ने अभी तक 1 करोड़ से अधिक की धनराशि वसूल की है।

Leave a Reply