रानीखेत में दसवीं के छात्र को जिंदा जलाया, क्षेत्र में दहशत

0
1157

अल्मोड़ा। रानीखेत के सौनी गांव के रहने वाले कक्षा 10 में पड़ने वाले एक छात्र को जिन्दा जला दिया गया। जिससे पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल है। आग से झुलसे छात्र को उसके परिजन रानीखेत राजकीय चिकित्सालय लाये जहां से उसे हल्द्वानी रेफर कर दिया लेकिन रास्ते में ही छात्र ने दम तोड़ दिया। छात्र की मौत के कारणों की जांच में पुलिस जुटी है।
जीडी बिड़ला स्कूल चिलियानौला में पड़ने वाल कक्षा 10 के छात्र दिनेश सिंह बिष्ट रोज की तरह गुरुवार को भी मार्निंग वाक पर गया था। सूत्रों के अनुसार रानीखेत में स्टेट हाइवे के पास सड़क सेे नीचे सुबह मार्निंग वाक करने वाले अन्य लोगों ने उसे जलते हुए देखा। उसे पहचानने वालों ने इस घटना की सूचना उसके परिजनों को दी। जिसके बाद परिजन मौके पर पहुंचे। आग से झुलसे दिनेश को उसके परिजन रानीखेत राजकीय अस्पताल लाये। जहां से इसकी सूचना पुलिस को दी गई। अपने बयान में दिनेश ने दो लड़कों पर उसे पकड़ने और मिट्टी का तेल डालकर आग लगाने की बात बताई है। दिनेश की हालत बिगड़ता देख चिकित्सकों ने उसे हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया। हल्द्वानी ले जाते समय दिनेश ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। सूचना मिलने के बाद पुलिस ने घटना स्थल का मुआयना किया जिस पर पुलिस को मिट्टी के तेल की बोतल एवं चप्पले मिली हैं। दिनेश के परिजन उसकी मौत को सुनियोजित तरह से की गई हत्या बताते हुए दिनेश के दोस्तों पर ही हत्या का शक जाहिर कर रहे है। दिनेश के पिता की राशन की दुकान है। परिजनों के अनुसार दिनेश ने उन्हें बताया था कि एक काली जेकेट पहने लडका उसके पास आया और दूसरे लड़के ने उस पर मिट्टी का तेल डाल दिया और लाइटर से आग लगा दी। पहाड़ की शांत वादियों में हुई इस घटना से पूरे क्षेत्र के लोग दहशत में है। पुलिस इस मामले में अनेक एंगिल से घटना की सत्यता को खंगालने में लगी है। हालांकि पुलिस के अनुसार शुक्रवार सुबह तक परिजनों की ओर से कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई गई है।

Leave a Reply