‘पशु मेले में पशुपालकों को मिलेगी सस्ती एवं नवीन तकनीक’

0
1278

रिपोर्ट … page3news.co.in
देहरादून। प्रदेश की महिला कल्याण एवं बाल विकास, पशुपालन, भेड़ एवं बकरी पालन, चारा एवं चारागाह विकास एवं मत्स्य विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रेखा आर्या ने विधान सभा स्थित कार्यालय कक्ष में पंतनगर में पशु कौतिक मेला के रूप में पशुमेला आयोजन के सम्बन्ध में पी.एच.डी. चौम्बर्स ऑफ कामर्स एण्ड इंडस्ट्री के साथ बैठक की।
मंत्री ने पंतनगर में पशु कौतिक मेला के रूप में पशु मेला आयोजन के सन्दर्भ मे बैठक लेते हुए कहा गया कि इस मेले का उद्देश्य पशु नस्ल सुधार एवं पशुपालकों की आय में वृद्धि करना है। यह मेला नवम्बर प्रथम सप्ताह में प्रस्तावित है। यह पशु मेला पी.एच.डी. चैम्बर्स ऑफ कामर्स और उत्तराखण्ड सरकार के संयुक्त मंच द्वारा आयोजित किया जायेगा। पशु मेला में प्रदेश के समस्त जनपदों में सर्वश्रेष्ठ पशु एवं पशुपालकों का चयन प्रतियोगिता के आधार पर किया जायेगा। चयनित पशु, पशुपालकों का पशु कौतिक मेले में प्रतियोगिता के बाद पुनः प्रदेश स्तर पर चयनित कर तीन पुरस्कार दिये जायेंगे। इस प्रतियोगिता में पशु से प्राप्त उत्पाद को आधार बनाया जायेगा। मंत्री ने कहा बद्रीगाय, गाय, बकरी एवं भेड़ से उत्पादित उत्पाद इसमें शामिल किया जायेगा। मेले का उद्देश्य सस्ती एवं नवीन तकनीकि के बारे में पशुपालकों का जानकारी देना है। अन्य व्यवसाय में लगे लोगों को पशुपालन की तरफ आकर्षित करना है।

इस अवसर पर रहे मौजूद

सचिव पशुपालन आर. मीनाक्षी सुन्दरम, निदेशक पी.एच.डी. चैम्बर्स ऑफ कामर्स मलिका वर्मा, क्षेत्रीय निदेशक अनिल तनेजा एवं विशाल जिन्दल, अपर निदेशक गढ़वाल मण्डल पौड़ी डॉ अशोक कुमार, संयुक्त निदेशक डॉ जी.डी. जोशी, डॉ नीरज सिंघम, डॉ संदीप रावत, डॉ सुनील अवस्थी एवं पी.एस.यादव, मुख्य अधिशासी अधिकारी यू.एल.डी.बी. देहरादून डॉ. एम.एस. नयाल, मुख्य अधिशासी अधिकारी ऊन एवं शीप बोर्ड देहरादून डॉ अविनाश आनन्द और सभी जनपदों के मुख्य पशुचिकित्साधिकारी।