Ujjwala Yojana 2.0: CM योगी आदित्यनाथ ने बांटा मुफ्त LPG कनेक्शन

0
99

लखनऊ। Ujjwala Yojana 2.0: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण के लाभार्थियों को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन वितरित किया। अपने सरकारी आवास से वर्चुअल कार्यक्रम के जरिए सीएम योगी विभिन्न जिलों के लाभार्थियों से संवाद भी किया और उनके अब तक के अनुभव को जाना। योजना के पहले चरण में देश के आठ करोड़ से अधिक परिवारों को रसोई गैस कनेक्शन दिए जा चुके हैं। प्रदेश में 1.47 करोड़ परिवार लाभान्वित हुए हैं। यह संख्या देश में सर्वाधिक है। अब इसके दूसरे चरण में प्रदेश में 20 लाख रसोई गैस कनेक्शन देने का लक्ष्य रखा गया है।

Supplementary budget: को धामी के दिल्ली दौरे से मिली मजबूती

एक करोड़ परिवारों को मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन उपलब्ध कराने का लक्ष्य तय

इस अपसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि महिला सशक्तीकरण का उज्ज्वला योजना से अच्छा उदाहरण नहीं हो सकता है। परिवार में भोजन कैसे बने इसकी चिंता महिलाएं ही करती हैं। देश आठ करोड़ ऐसे परिवार थे जिनके पास रसोई गैस कनेक्शन नहीं था। महिलाएं लकड़ी और कोयले पर खाने बनाने को मजबूर थीं, जो सुरक्षित नहीं था। इसी के दृष्टिगत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘स्वस्थ जीवन बेहतर जीवन’ के माध्यम इस लक्ष्य को आगे बढ़ाने का कार्य किया। उन्होंने कहा कि उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण में देश में एक करोड़ परिवारों को मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन उपलब्ध कराने का लक्ष्य तय किया गया है।

Ujjwala Yojana 2.0: में प्रदेश के दस जिले चयनित

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण में प्रदेश के दस जिले चयनित किए गए हैं जहां पर 20 लाख महिलाओं को मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। इन जिलों में बांदा, चित्रकूट, हरदोई, अमेठी, फर्रुखाबाद, सोनभद्र, रायबरेली, महोबा, बदायूं और फतेहपुर हैं। उन्होंने कहा कि 2014 के पहले रसोई गैस के कनेक्शन के लिए भटकना पड़ता था। रुपये खर्च करके भी कनेक्शन नहीं मिल पाता था। किसी तरह कनेक्शन मिल भी गया तो गैस का भरोसा नहीं रहता था। लोगों को गैस लेने के रात से ही लाइन लगानी पड़ती थी। जब सुबह नंबर आता था तो पता चलता था कि सिलेंडर खत्म हो गए। लोग जब विरोध करते थे तो लाठियां बरसती थी। लेकिन, अब समय बदल गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गैस कनेक्शन फ्री में कर दिया और घर-घर रसोई गैस पहुंच रही है।

उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण में उत्तर प्रदेश की 20 लाख महिलाओं की जिंदगी रोशन

चूल्हे के धुएं से मुक्ति के महाभियान प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण में उत्तर प्रदेश की 20 लाख महिलाओं की जिंदगी रोशन होगी। उज्ज्वला 2.0 योजना में उन प्रवासी मजदूरों के लिए विशेष प्रावधान किया गया है जो पहले पते के प्रमाण के अभाव में इस लाभ से वंचित रह गए थे। इससे पहले, बीते 10 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में उज्जवला 2.0 की शुरुआत उत्तर प्रदेश को महोबा से की थी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वर्चुअल कार्यक्रम के दौरान ही प्रयागराज कुंभ-2019 पर केंद्रित पुस्तक ‘प्रयागराज कुंभ’ का विमोचन करेंगे। पुस्तक का प्रकाशन भारतीय सामाजिक विज्ञान अनुसंधान परिषद द्वारा किया गया है। इसमें कुंभ के विविध आयामों का वर्णन है। ऐतिहासिक, सामाजिक, सांस्कृतिक, आर्थिक, पर्यावरणीय और प्रशासनिक पक्षों के संबंध में सामग्री है।

Last Journey of Kalyan Singh: का पार्थिव देह बुलंदशहर के नरौरा पहुंची

Leave a Reply