ब्रिटेन के तीन विश्वविद्यालयों में कोरोना का कहर

0
221

लंदन। ब्रिटेन में कोरोना वायरस का कहर देखने को मिला है। ब्रिटेन के तीन विश्वविद्यालयों में कम से कम 1853 छात्र और कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। यह जानकारी खुद संस्थानों ने दी है। एक ब्रिटिश न्यूज़ मीडिया ने बताया कि न्यूकैसल यूनिवर्सिटी ने गुरुवार को एक बयान में कहा कि इस सप्ताह 1003 छात्रों और 12 स्टाफ सदस्यों के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि की गई, जबकि 2 अक्टूबर को यहां 94 पॉजिटिव मामले सामने आए थे। न्यूकैसल यूनिवर्सिटी ने आगे कहा कि सामाजिक और आवासीय सेटिंग्स में ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। जबकि कैंपस में सभी तरह की सुरक्षा के लिए उचित उपाय किए गए हैं।

AIIMS NORCET Result 2020: सीबीटी परीक्षा परिणाम घोषित, इस लिंक देखें अपने नतीजे और रैंक

तीन यूनिवर्सिटी के 1800 से ज्यादा छात्र और स्टाफ पाए गए पॉजिटिव

यूनिवर्सिटी ने आगे कहा कि जो छात्र आइसोलेशन या क्वारंटाइन में हैं, वे ‘हेल्प पैकेज’ के हकदार हैं, जिसमें मानसिक स्वास्थ्य सहायता, खाद्य वाउचर तक पहुंच और कपड़े धोने में मदद शामिल है। । इसके बाद, नॉर्थम्ब्रिया विश्वविद्यालय ने 619 नए मामले दर्ज किए।

ब्रिटिश मीडिया के मुताबिक

ब्रिटिश मीडिया के मुताबिक, विश्वविद्यालय ने आगे कहा कि यह व्यापक प्रयासों को जारी रखने के लिए अपने स्वयं के अलग-थलग छात्रों या स्टाफ और छात्रों के संघ द्वारा वितरित खाद्य कंसीयज सेवाओं या खाद्य पार्सल के लिए सहायता प्रदान करने के लिए। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए न्यूकैसल और नॉर्थम्ब्रिया दोनों ने ऑनलाइन शिक्षा का रूख कर लिया है। इस बीच, डरहम विश्वविद्यालय ने पिछले सप्ताह छात्रों में 219 नए मामलों की पुष्टि की। इसके 17 कॉलेजों में से दो में रहने वाले छात्रों को परिसर में बने रहने और अगले सात दिनों के लिए विश्वविद्यालय द्वारा प्रबंधित गतिविधियों में भाग लेने के लिए कहा गया है।

संक्रमण बढ़ने पर नई पाबंदियों की तैयारी

ब्रिटेन में दूसरे दौर की कोरोना महामारी शुरू होने के बाद नए मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। सबसे ज्यादा संक्रमित इंग्लैंड में पाए जा रहे हैं। यहां स्थिति पर काबू पाने के लिए रोजमर्रा की जिंदगी पर नई पाबंदियां लगाने की तैयारी शुरू हो गई है। हालांकि संक्रमण की रोकथाम के लिए लोगों के जमावड़े पर रोक लगाने समेत कई सख्त उपाय किए गए हैं। स्थानीय स्तर पर लॉकडाउन भी लगाने को कहा गया है।

‘‘हेल्थ केयर डिलीवरी सिस्टम इन इंडिया’’ का विमोचन

LEAVE A REPLY