मऊ/चंदौली: पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव के दौरान हुई हिंसक घटनाओं को लेकर पीएम मोदी ने सूबे की सीएम ममता बनर्जी को सीधी चुनौती दी है। यूपी के मऊ और चंदौली में गुरुवार को रैलियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आज एक बार फिर से पश्चिम बंगाल में मेरी रैली है। हम देखते हैं कि दीदी वहां मेरी रैली होने देती हैं या नहीं

बता दें कि मंगलवार को अमित शाह के रोड शो के दौरान हिंसा हो गई थी। इस दौरान समाज सुधारक ईश्वर चंद्रविद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने के चलते टीएमसी और बीजेपी के वर्कर एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं।

पीएम मोदी ने कहा, ‘कुछ महीने पहले पश्चिमी मेदिनीपुर में मेरी रैली में टीएमसी ने अराजकता फैलाई थी। इसके बाद ठाकुरनगर में तो ये हालत कर दी गई थी कि मुझे अपना संबोधन बीच में छोड़कर मंच से हटना पड़ा था। आज दमदम में मेरी रैली है, देखते हैं दीदी ये रैली होने देती हैं या नहीं।’

पीएम ने विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने का आरोप टीएमसी पर लगाया

यही नहीं पीएम मोदी ने समाज सुधारक ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने का आरोप टीएमसी पर लगाया। उन्होंने कहा कि टीएमसी के गुंडों ने ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति को तोड़ दिया। ऐसा करने वालों को कठोर सज़ा दी जानी चाहिए।

इसके बाद ठाकुरनगर में तो ये हालत कर दी गई थी कि मुझे अपना संबोधन बीच में छोड़कर मंच से हटना पड़ा था।

विद्यासागर की पंचधातु की एक भव्य मूर्ति की स्थापना करेगी हमारी सरकार

पीएम मोदी ने कहा कि विद्यासागर जी के विजन के लिए समर्पित हमारी सरकार, उसी जगह पर पंचधातु की एक भव्य मूर्ति की स्थापना करेगी। इससे पहले बीजेपी चीफ अमित शाह ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस ने अब तक हमारी 70 रैलियों पर रोक लगाने का काम किया है।

LEAVE A REPLY