1 नवंबर से LPG सिलिंडर डिलिवरी को लेकर नया नियम लागू

0
290

दिन के सबसे बेहतरीन ऑफर्स और डील

नवंबर के महीने से एलपीजी गैस सिलिंडर (LPG Gas Cylinder) की डिलिवरी को लेकर नियम बदलने जा रहा है। अब गैस सिलिंडर मंगाने के लिए ओटीपी की जरूरत पड़ेगी। तेल कंपनियां गैस की चोरी रोकने और सही उपभोक्ताओं की पहचान के लिए के नई व्यवस्था लागू करने जा रही है। इसे Delivery Authentication Code (DAC) नाम दिया गया है।

कोरोना से जंग में गुड न्यूज, 22 मार्च के बाद पहली बार हुआ ऐसा

सिलिंडर के पूरे पैसे देने पड़ते हैं

जैसा कि हम जानते हैं, सब्सिडी वाली गैस के लिए भी उपभोक्ताओं को पूरा पैसा देना पड़ता है। बाद में उनके अकाउंट में पैसे ट्रांसफर कर दिए जाते हैं। ऐसे में आपके सब्सिडी वाले अकाउंट में पैसे आए या नहीं इसका पता करना भी एक टास्क है। इस आर्टिकल में इसी के बारे में चर्चा करेंगे कि सब्सिडी अकाउंट में पैसे आए या नहीं, इसकी जांच कैसे करें। वर्तमान में सरकार एक साल में 12 LPG सिलिंडर पर सब्सिडी (Subsidy) देती है।

मोबाइल नंबर से चेक कर सकते हैं

आपके सब्सिडी वाले अकाउंट में सब्सिडी के पैसे आए या नहीं, यह दो तरीके से चेक किया जा सकता है। आप रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर और एलपीजी कनेक्शन आईडी, दोनों से इसकी जांच कर सकते हैं। मुख्य रूप से भारत गैस, एचपी गैस और इंडेन के उपभोक्ता इस विकल्प का इस्तेमाल कर सकते हैं। पहले माय एलपीजी डॉट इन की वेबसाइट (http://mylpg.in/index.aspx) पर जाएं। यहां 17 डिजिट का एलपीजी आईडी भरना है और लॉगिन करना है। यहां आपके रजिस्टर्ड नंबर पर ओटीपी आएगा और आगे की प्रक्रिया पूरी करने के बाद View Cylinder Booking History/subsidy transferred पर जाना है।

10 लाख तक कमाई तो मिलेगी सब्सिडी

सब्सिडी संबंधी जानकारी यहां दर्ज होती है। आपके खाते में सब्सिडी के पैसे ट्रांसफर किए गए हैं या नहीं, यहां आपको सब पता चल जाएगा। सरकार महंगे ईंधन के बोझ से आम आदमी को राहत पहुंचाने के लिए गैस सब्सिडी देती है। अगर आपकी कमाई 10 लाख सालाना तक है तो सब्सिडी का लाभ मिलेगा। अगर पति और पत्नी मिलकर भी 10 लाख कमाते हैं तो उन्हें LPG सब्सिडी नहीं मिलेगी। Indane अभी 9 करोड़ घरों में रसोई गैस सिलेंडर देता है। PAHAL स्कीम के जरिए गैस सिलिंडर सब्सिडी का पैसा डीबीटी के जरिए उपभोक्ताओं के अकाउंट में ट्रांसफर किए जाते हैं।

अगर आप इंडिन ऑयल के उपभोक्ता हैं तो पहले IOC की ऑफिशियल वेबसाइट cx.indianoil.in पर जाएं । यहां Subsidy Status वाले विकल्प में जाना है। रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर और एलपीजी आईडी की मदद से आगे की प्रक्रिया पूरी होगी। यहां आपको दिख जाएगा कि सब्सिडी का पैसा आया है या नहीं। इसके अलावा कस्टमर केयर नंबर 1800-233-3555 से भी सब्सिडी की जानकारी ले सकते हैं

परिवार की सुरक्षा, गवाहों की सुरक्षा से लेकर अन्य तमाम पहलुओं को देखेगा इलाहाबाद हाई कोर्ट

LEAVE A REPLY