Lata Mangeshkar Jayanti 2022: लता मंगेशकर के नाम पर अयोध्या के चौक का हुआ नामकरण

5

नई दिल्ली। Lata Mangeshkar Jayanti 2022: भारतरत्न लता मंगेशकर की आज 93वीं जयंती है। पीएम मोदी ने लता दीदी को खास तरीके से याद किया। पीएम मोदी ने कहा कि ऐसा बहुत कुछ है जो मुझे याद है। अनगिनत बातचीत जिसमें उन्होंने इतना स्नेह बरसाया है। साथ ही उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है कि आज अयोध्या में एक चौक का नाम उनके नाम पर रखा गया है। यह महानतम भारतीय प्रतीकों में से एक को एक उचित श्रद्धांजलि में से एक है।

Rajasthan Political Crisis: राजस्थान में सियासी ड्रामा जारी

अयोध्या में चौक के नामकरण के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि लता दीदी के नाम पर बना ये चौक हमारे देश में कला जगत से जुड़े लोगों के लिए भी प्रेरणा स्थली की तरह कार्य करेगा। ये बताएगा कि भारत की जड़ों से जुड़े रहकर, आधुनिकता की ओर बढ़ते हुए भारत की कला और संस्कृति को विश्व के कोने-कोने तक पहुंचाना ये भी हमारा कर्तव्य है।

पीएम मोदी जारी करेंगे वीडियो संदेश

लता मंगेशकर की 93वीं जयंती (Lata Mangeshkar Jayanti 2022) के अवसर पर उत्तर प्रदेश के अयोध्या में सीएम योगी ने लता मंगेशकर चौक का उद्घाटन किया। इस मौके पर पीएम मोदी ने एक वीडियो संदेश भी जारी किया है। अयोध्या के इस चौक पर 40 फीट लम्बी वीणा लगाई गई है, जिसका वजन 14 टन है।

वीडियो संदेश में पीएम मोदी ने कहा कि प्रभु राम तो हमारी सभ्यता के प्रतीक पुरुष हैं। राम हमारी नैतिकता के हमारे मूल्यों, हमारी मर्यादा, हमारे कर्तव्य के जीवंत आदर्श हैं। अयोध्या से लेकर रामेश्वरम तक राम भारत के कण-कण में समाये हुये हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि अयोध्या के भव्य मंदिर में श्रीराम आने वाले हैं। उससे पहले करोड़ों लोगों में राम नाम की प्राण प्रतिष्ठा करने वाली लता दीदी का नाम अयोध्या शहर के साथ हमेशा के लिए स्थापित हो गया है।

शरद पवार ने कुछ इस तरह किया याद

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने ट्विटर पर लिखा कि लता दीदी ने कई दशकों तक अपने मधुर गायन से अपने प्रशंसकों को मंत्रमुग्ध किया है। उन्होंने अपनी आवाज से भारतीय संगीत को सात समंदर के पार पहुंचाया है। लता दीदी की आवाज हर भारतीय के दिलों में हमेशा अमर रहेगी। भारत रत्न लता मंगेशकर को उनकी जयंती पर बधाई!

लता जी की सुनहरी आवाज हमेशा हमारे साथ है रहती: रिजिजू

इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने ट्विटर पर कहा कि भारत रत्न लता मंगेशकर को उनकी 93वीं जयंती पर उन्हें दिल से याद कर रहा हूं। लता जी हमें छोड़कर चली गईं लेकिन उनकी दिव्य सुनहरी आवाज हमेशा हमारे साथ रहती है।

मंगेशकर को कई पुरस्कारों समेत तीन राष्ट्रीय पुरस्कार भी दिए गए

बता दें कि 28 सितंबर, 1929 को लता मंगेशकर का जन्म हुआ था। लता मंगेशकर का इसी साल 6 फरवरी को मुंबई के एक अस्पताल में निधन हो गया था। उन्होंने बॉलीवुड में कई बेहतरीन सदाबहार गाने गाए है। लता मंगेशकर को कई पुरस्करों समेत तीन राष्ट्रीय पुरस्कार भी दिए गए।

Hemkund Sahib and Badrinath: धाम में यात्रा व्यवस्थाओं का जायजा लेने पहुंचे CS

Leave a Reply