Bundelkhand Expressway: प्रधानमंत्री ने जनता को सौंपा बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे

3

जलौन। Bundelkhand Expressway:  चित्रकूट से इटावा तक 14850 करोड़ रुपये की लागत से बने 296 किलोमीटर लंबे बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे [Bundelkhand Expressway] काे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बटन दबाते ही जनता को समर्पित कर दिया। यह एक्सप्रेस-वे सात जिलों से होकर गुजरा है और लोकार्पण का कार्यक्रम जालौन जिले के कैथरी गांव में बने टोल प्लाजा पर किया गया। प्रधानमंत्री ने जनसभा को संबोधित करते बुंदेलखंड के विकास में बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे से होने वाले लाभ गिनाए तो देश से रेवड़ी कल्चर हटाने की बात कही। वहीं उन्होंने देश के प्रत्येक गांव में 15 अगस्त तक आजादी की लड़ाई में बलिदान देने वाले क्रांतिकारियों के संघर्ष को याद करके अमृत महोत्सव मनाने की अपील की। बुंदेलखंड (Bundelkhand Expressway) में अमृत सरोवरों के बनाने में कारसेवा और सहयोगी की अपक्षा भी की।

Harela festival: के अवसर पर वृक्षारोपण कार्यक्रम में CM ने किया प्रतिभाग

लोकार्पण के लिए पांच किमी के दायरे में बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे (Bundelkhand Expressway) को भव्य तरीके से सजाया गया। सुरक्षा की दृष्टि से चप्पे-चप्पे पुलिस व आरएएफ के जवानों की तैनाती रही। प्रधानमंत्री के साथ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत मंत्री व जनप्रतिनिधि मौजूद रहे। पंडाल में अलग-अलग क्षेत्र से आए लोगों के बैठने के लिए अलग ब्लाक निर्धारित किए गए। बने तीन पंडालों को 96 ब्लाक में बांटकर शहरी व ग्रामीण क्षेत्र से आने वाले लोगों को बिठाया गया।

02:32 PM, 16 Jul 2022
पीएम मोदी कानपुर एयरपोर्ट से रवाना हुए

जालौन में बुंदेलखंड एक्सप्रेस (Bundelkhand Expressway) वे का लोकार्पण करने के बाद हेलीकॉप्टर से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कानपुर एयरपोर्ट पहुंचे। यहां विशेष विमान में सवार होने के बाद वह रवाना हो गए।

01:14 PM, 16 Jul 2022
जालौन से कानपुर एयरपोर्ट के लिए रवाना हुए पीएम

हेलीपैड पर हेलीकाप्टर पर सवार होकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कानपुर एयरपोर्ट के लिए रवाना हुए।

01:12 PM, 16 Jul 2022
प्रधानमंत्री मंच से उतरकर हेलीपैड के लिए रवाना

प्रधानमंत्री का संबोधन समाप्त हो गया। कैथरी टोल प्लाजा के पास बने पंडाल से मच से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हेलीपैड के लिए रवाना हो गए।

01:01 PM, 16 Jul 2022
भारत के हर गांव में 15 अगस्त तक मनाएं आजादी का महोत्सव

प्रधानमंत्री ने कहा, झांसी की बेटी शैली जी ने कमाल करके दिखाया। लंबी कूद में सिल्वर मेडल जीता है, बुंदेलखंड युवा प्रतिभा से भरा हुआ है। यूपी ऐसे ही सुशासन के लिए यूपी में काम हो रहा है। अंत में उन्होंने अपील करते हुए कहा 15 अगस्त तक हिंदुस्तान के हर गांव में मनना चाहिये आजादी का महोत्सव।

12:59 PM, 16 Jul 2022
कुटीर उद्योग से सशक्त हो रहा मेक इन इंडिया

बुंदेलखंड (Bundelkhand Expressway) के लोगों से एक और आग्रह है कि अमृत सरोवर बनाने का निर्णय लिया है। यहां 75 अमृत सरोवर बनाए जा रहे हैं, इसके लिए गांव गांव कारसेवा का अभियान चलना चाहिये। यहां के कुटीर उद्योगों की भी ताकत है, मेक इन इंडिया इससे ही सशक्त होने वाला है। छोटे प्रयासों से कैसे बड़ा प्रभाव पड़ रहा है, इसका उदाहरण है कि भारत हर साल करोड़ों रुपये के खिलौने दुनिया के दूसरे देशों से मंगाता रहा है। जबकि भारत में खिलौने बनाना तो पारिवारिक और पारंपरिक व्यवसाय रहा है। इसे देखते हुए खिलौना उद्योग को नए सिरे से काम करने के लिए आग्रह किया था। कम समय में सरकार स्तर पर हमने काम किया, इसका नतीजा ये निकला कि आज विदेश से आने वाले खिलौनों की संख्या बहुत बड़ी मात्रा में कम हो गई है।

12:58 PM, 16 Jul 2022
छोटे से छोटे जगह तक विकास पहुंचाना सामाजिक न्याय का काम

प्रधानमंत्री ने कहा, देश में जहां भी डबल इंजन की सरकार है, वो विकास के लिए मेहनत कर रही है। डबल इंजन की सरकार मुफ्त की रेवड़ी बांटने का शार्ट कट नहीं अपना रही है, वो मेहनत करके विकास करने में जुटी है। देश का संतुलित विकास और छोटे कस्बो तक विकास व सुविधाओं का पहुंचना भी सामाजिक न्याय का काम है। यूपी के जिन जिलों को पिछड़ा मानकर छोड़ दिया गया था, वहां आज विकास हो रहा है, यह भी एक तरह का सामाजिक न्याय है। बुंदेलखंड के लोगों को भी हमारी सरकार के सामाजिक न्याय भरे कार्यों से बहुत लाभ हो रहा है। बुंदेलखंड की एक और चुनौती को कम करने के लिए हर घर तक पाइप से पानी पहुंचाने के लिए जल जीवन मिशन पर काम कर रहे हैं। इसके तहत लाखों लोगों को पानी का कनेक्शन दिया जा चुका है। माताओं और बहनों के जीवन में मुश्किलें कम हुई हैं। रतौली बांध परियोजना, भावनी बांध परियोजना ही है। केन बेतवा लिंक योजना के लिए हजारो करोडृ रुपये स्वीकृत किए जा चुके हैं।

12:50 PM, 16 Jul 2022
देश से रेवड़ी कल्चर को हटाना है

देश के सभी मतदाताओं को सम्मान और सुविधा देता हूं। आज पूरी दुनिया भारत को बहुत आशा से देख रही है, देश अपनी आजादी का 75 वर्ष पूरे होने का पर्व मना रहे हैं। इस वीर भूमि को हिंदुस्तान के गांवों से लोगों से प्रार्थना करता हूं कि आजादी का पर्व मना रहे हैं। इसके लिए हमारे पूर्वजों ने लड़ाई लड़ी, बलिदान दिया और संघर्ष किया। इसलिए 15 अगस्त तक हर गांव में कार्यक्रम हो, बलिदानियों को याद करें। आज भारत में ऐसा कोई काम नहीं होना चाहिये, जो बेहतर भविष्य से जुड़ा हुआ न हो। हम कोई भी नीति बनाएं इसके पीछे सबसे बड़ी सोच यही होनी चाहिये कि इससे देश का विकास और तेज होगा। हर वो बात जिससे देश को नुकसान होता है। देश का विकास प्रभावित होता है, उससे हमे हमेशा दूर रखना है। आजादी के 75 वर्ष बाद देश को विकास का बेहतरीन मौका मिला है, इसे गंवाना नहीं है। इस काल खंड में उसे नई उंचाई पर पहुंचाना है, नया भारत बनाना है। नए भारत के सामने ऐसी चुनौती है, जिसपर अगर ध्यान नहीं दिया तो युवाओं का बहुत नुकसान हो सकता है। आपका आज गुमराह हो जाएगा और आने वाला कल अंधेरे में सिमट जाएगा। मुफ्त की रेवड़ी बांटकर वोट बटोरने की भरसक कोशिश हो रही है, ये रेवड़ी कल्चर से युवाओं को सावधान रहने की जरूरत है। रेवड़ी कल्चर वाले नए एक्सप्रेस वे, नए एयरपोर्ट या डिफेंस कॉरीडोर नहीं बनाएंगे। रेवड़ी कल्चर को देश की राजनीति से हटाना है। रेवड़ी कल्चर से अलग देश में रोड बनाकर नए रेल रूट बनाकर लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने का काम कर रहे हैँ।

12:44 PM, 16 Jul 2022
मार्यादा और इरादा से चल रहा देश

प्रधानमंत्री ने कहा, पहले कि सरकार के समय यूपी में हर साल औसतन 50 किमी रेल लाइन का दोहरीकरण होता था। आज औसतन का काम दो सौ किमी का काम हो रहा है। 2014 से पहले यूपी में सिर्फ 11 हजार कामन सर्विस सेंटर थे, आज यूपी में एक लाख तीस हजार से ज्यादा कामन सर्विस सेंटर काम कर रहे हैं। ये आकंड़ा याद रखियेगा। एक समय यूपी में सिर्फ 12 मेडिकल कालेज हुआ करते थे, आज यूपी में 35 से ज्यादा मेडिकल कालेज है। 14 नए मेडिकल कालेज पर काम चल रहा है। विकास की जिस धारा पर आज देश चल रहा है, उसके मूल में दो प्रमुख पहलू है, एक है इरादा और दूसरा है मर्यादा। हम देश के वर्तमान के लिए नई सुविधाएं नहीं बल्कि देश का भविष्य भी गढ़ रहे हैं। हम 21वीं सदी के इंफ्रास्ट्रक्चर में जुटे हैं। विकास के प्रति सेवाभाव ऐसा है कि समय की मर्यादा को टूटने नहीं देते हैँ। हम समय की मार्यादा का पालन कैसे करते हैं इसके अनगिनत उदाहरण हैं। इसमें काशी कॉरीडोर, गोरखपुर एम्स, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे, बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का शिलान्यास भी हमारी सरकार में हुआ और हमारी सरकार ने ही लोकार्पण किया।

12:43 PM, 16 Jul 2022
मार्यादा और इरादा से चल रहा देश

प्रधानमंत्री ने कहा, पहले कि सरकार के समय यूपी में हर साल औसतन 50 किमी रेल लाइन का दोहरीकरण होता था। आज औसतन का काम दो सौ किमी का काम हो रहा है। 2014 से पहले यूपी में सिर्फ 11 हजार कामन सर्विस सेंटर थे, आज यूपी में एक लाख तीस हजार से ज्यादा कामन सर्विस सेंटर काम कर रहे हैं। ये आकंड़ा याद रखियेगा। एक समय यूपी में सिर्फ 12 मेडिकल कालेज हुआ करते थे, आज यूपी में 35 से ज्यादा मेडिकल कालेज है। 14 नए मेडिकल कालेज पर काम चल रहा है। विकास की जिस धारा पर आज देश चल रहा है, उसके मूल में दो प्रमुख पहलू है, एक है इरादा और दूसरा है मर्यादा। हम देश के वर्तमान के लिए नई सुविधाएं नहीं बल्कि देश का भविष्य भी गढ़ रहे हैं। हम 21वीं सदी के इंफ्रास्ट्रक्चर में जुटे हैं। विकास के प्रति सेवाभाव ऐसा है कि समय की मर्यादा को टूटने नहीं देते हैँ। हम समय की मार्यादा का पालन कैसे करते हैं इसके अनगिनत उदाहरण हैं। इसमें काशी कॉरीडोर, गोरखपुर एम्स, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे, बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का शिलान्यास भी हमारी सरकार में हुआ और हमारी सरकार ने ही लोकार्पण किया।

11:24 AM, 16 Jul 2022
प्रधानमंत्री जालौन पहुंचे, बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का ले रहे जायजा

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जालौन पहुंच गए हैं और हेलीकाप्टर से बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का जायजा ले रहे हैं। कुछ ही देर में कैथरी टोल प्लाजा पर आयोजित लोकार्पण कार्यक्रम में पहुंचेंगे।

11:02 AM, 16 Jul 2022
कानपुर से प्रधानमंत्री जालाैन के लिए रवाना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विशेष विमान से कानपुर पहुंच गए हैं, यहां पर मुख्यंत्री योगी आदित्यनाथ समेत जनप्रतिनिधियों ने उनका स्वागत किया। यहां से वह बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे (Bundelkhand Expressway) का उद्घाटन करने के लिए जालौन रवाना हो गए हैं।

Free Vigilance Dose: का मुख्यमंत्री धामी ने किया शुभारंभ

Leave a Reply