20 घंटे फ्रीजर में बंद रहा बुजुर्ग, सूचना पर पहुंची पुलिस ने कराया रेस्क्यू

0
116

Tamilnadu: तमिलनाडु के सलेम में एक अजीब मामला सामने आया है। यहां एक छोटे भाई ने अपने बड़े भाई को फ्रीजर में बंद करके घर में रखा था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने बड़े भाई को फ्रीजर से रेस्क्यू कराया। उसे मरा समझकर पुलिस कार्रवाई कर रही थी तभी चलती सांसे देखकर उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी हालत स्थिर है। पुलिस ने पीड़ित के छोटे भाई पर केस दर्ज कर लिया है।

20 घंटे फ्रीजर में बंद रहा बुजुर्ग, सूचना पर पहुंची पुलिस ने कराया रेस्क्यू

मामला कंधमपट्टी इलाके का है। सुरामंगलम पुलिस ने बताया कि बालासुब्रम्यम कुमार (73) एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करते थे। वह 15 साल पहले रिटायर हो गए थे। उनकी पत्नी ऊषा की दो साल पहले मौत हो चुका है। उनके कोई बच्चे नहीं थे इसलिए वह अपने भाई श्रवणन (70) के घर रहने आ गए।

घर पर थे तीन लोग

पुलिस ने बताया कि श्रवणन ने शादी नहीं की थी। अपनी बहन की दो बेटियों जयश्री और सुधा के साथ रहते हैं। दो दिन पहले सुधा इलाज के लिए कोयम्बटूर गई थीं। वहां एक प्राइवेट अस्पताल में उन्हें भर्ती कर लिया गया। घर पर जयश्री, बालासुब्रम्यम और श्रवणन थे।

फ्रीजर मंगाकर किया बंद

बालासुब्रम्यम सो रहे थे, श्रवणन ने उन्हें शव रखने वाला फ्रीजर मंगवाया और उसके अंदर उन्हें रख दिया। अगले दिन जब फ्रीजर वाला, फ्रीजर लेने पहुंचा तो उसने शव में हरकत देखी। उसने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने बालासुब्रम्यम को रेस्क्यू कराकर अस्पताल में भर्ती कराया। इस मामले में पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। अभी श्रवणन को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

घरवालों ने कहा, सोचा मरने वाले हैं

पुलिस ने बताया कि हैरानी वाली बात है कि श्रवणन और जयश्री ने कहा कि उन्हें लगा कि बालासुब्रम्यम दो घंटे में मरने वाले हैं इसलिए उन्होंने फ्रीजर मंगवाकर उन्हें उसके अंदर बंद कर दिया था। पुलिस ने बताया कि 20 घंटे तक बुजुर्ग का शरीर फ्रीजर में बंद रहा।

पुलिस विभाग को चालान की संख्या में वृद्धि करने के निर्देश

LEAVE A REPLY